मुंबई, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि अब एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति का कार्यकाल समाप्त होने जा रहा है। बीसीसीआइ की मुंबई के इंडियन क्रिकेट सेंटर में आयोजित 88वीं वार्षिक आम बैठक यानी एजीएम के बाद सौरव गांगुली ने कहा है कि आप अपने कार्यकाल से आगे काम नहीं कर सकते।

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने बीसीसीआइ के पुराने संविधान के मुताबिक कहा है कि चयन समिति का कार्यकाल चार साल से ज्यादा समय के नहीं हो सकता। वहीं, संविधान संशोधन के बाद ये टर्म पांच साल का हो जाएगा, लेकिन अभी इससे सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिलनी है, लेकिन एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली राष्ट्रीय चयन समिति का 4 साल का कार्यकाल समाप्त हो गया है।

प्रसाद ने 2015 में चयन समिति को किया था ज्वाइन

एमएसके प्रसाद और गगन खोड़ा ने साल 2015 में चयन समिति में चुने गए थे। वहीं, जतिन परांजपे, सरनदीप सिंह और देवांग गांधी ने 2016 में चयन समिति में नियुक्ति पाई थी, लेकिन बीसीसीआइ के मौजूद अध्यक्ष सौरव गांगुली के मुताबिक इनमें से किसी भी शख्स का कार्यकाल आगे नहीं बढ़ाया जा रहा है। ऐसे में इन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले वनडे और टी20 इंटरनेशनल सीरीज के लिए भारतीय टीम का आखिरी बार चयन किया है।

हर साल नहीं चुने जाएंगे चयनकर्ता

सौरव गांगुली ने कहा, "कार्यकाल समाप्त हो गया है। आप कार्यकाल से आगे नहीं जा सकते। इन सभी लोगों ने अच्छा काम किया है। हम चयनकर्ताओं के लिए एक फिक्स कार्यकाल बनाएंगे। हर साल सलेक्टर्स का चयन करना सही नहीं है।" बता दें कि इस चयन समिति के कार्यकाल के दौरान भारतीय टीम ने कई क्षेत्रों में सफलता हासिल की है, लेकिन कई सारे बड़े टूर्नामेंट गंवाए भी हैं, जिसमें वर्ल्ड कप, आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट शामिल हैं।

ये भी पढ़ेंः 2024 तक BCCI के अध्यक्ष बने रह सकते हैं सौरव गांगुली, AGM में लिया गया बड़ा फैसला

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस