नई दिल्ली, पीटीआइ। दक्षिण ओडिशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में चक्रवात की चेतावनी के कारण लड़कों और लड़कियों के अंडर-19 घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट की शुरुआत को दो दिनों के लिए टालना पड़ा है। इसी वजह से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ का घरेलू सत्र विलंब से शुरू होगा। 

बीसीसीआइ के घरेलू सत्र का आगाज लड़कों की अंडर-19 वीनू मांकड़ ट्राफी और महिलाओं के अंडर-19 वनडे टूर्नामेंट से मंगलवार को होना था, लेकिन इसे दो दिनों के लिए टाल दिया गया। इन टूर्नामेंटों के मैच सात स्थलों पर खेले जाएंगे। हैदराबाद और भुवनेश्वर में भारी बारिश की उम्मीद है, तो वहीं इंदौर, विशाखापत्तनम, सूरत, राजकोट और नागपुर भी मेजबान शहरों में शामिल हैं।

बीसीसीआइ के महाप्रबंधक (खेल विकास) धीरज मल्होत्रा ने सात मेजबान संघों को भेजे पत्र में लिखा, "लगातार बारिश और मौसम विभाग द्वारा जारी चक्रवात की चेतावनी के कारण बीसीसीआइ ग्रुप चरण की शुरुआत 28 से 30 सितंबर तक स्थगित करने के लिए मजबूर है।" कार्यक्रम में इस बदलाव के बाद कोई विश्राम दिवस नहीं होगा और सभी मैच 30 सितंबर से चार अक्टूबर तक लगातार एक के बाद एक खेले जाएंगे।

गौरतलब है कि 2020-21 के घरेलू सत्र में कई टूर्नामेंटों का आयोजन नहीं हो सका था, लेकिन अब बीसीसीआइ ने 2021-22 के सत्र में कई टूर्नामेंटों को आयोजित करने का फैसला किया है। हालांकि, इस साल भी कुछ टूर्नामेंट नहीं खेले जाएंगे, लेकिन अच्छी बात ये है कि इस साल रणजी ट्राफी का आयोजन होगा, जो कि पिछले साल कोरोना वायरस महामारी के कारण आयोजित नहीं किया जा सका था।

Edited By: Vikash Gaur