मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लंदन, एएफपी। Ashes 2019: ऑस्ट्रेलियाई टीम पांचवें और आखिरी टेस्ट के लिए गुरुवार को ओवल मैदान पर उतरेगी तो उसका लक्ष्य 2001 के बाद इंग्लैंड में पहली एशेज सीरीज जीतना होगा और शानदार फॉर्म में चल रहे स्टीव स्मिथ उसके 'ट्रंपकार्ड' साबित होंगे। टिम पेन की टीम ने ओल्ड ट्रैफर्ड में इंग्लैंड को हराकर पांच मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली। एक मैच बाकी रहते ऑस्ट्रेलिया ने एशेज अपने पास रखना भी सुनिश्चित कर लिया है क्योंकि

स्मिथ को रोकना होगा : सीरीज में बराबरी के लिए विश्व कप विजेता इंग्लैंड को स्मिथ के बल्ले पर अंकुश लगाना होगा जो पांच पारियों में 134 से अधिक की औसत से 671 रन बना चुके हैं। स्मिथ ने मैनचेस्टर में दोहरे शतक समेत तीन शतक और दो अर्धशतक लगाए हैं। ऑस्ट्रेलिया की ताकत उसकी तेज गेंदबाजी भी रही। जोश हेजलवुड और दुनिया के नंबर एक गेंदबाज पैट कमिंस मिलकर 42 विकेट ले चुके हैं। दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज और गेंदबाज के टीम में होने से ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर की दिक्कतें भी कम हुई हैं। मेहमान टीम की तेज गेंदबाजी आक्रमण ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है और वे ओवल में भी इसे जारी रखना चाहेंगे।

वार्नर ने बढ़ाई चिंता : वॉर्नर ने सीरीज में अब तक केवल 79 रन बनाए हैं। तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने उन्हें काफी बार आउट किया है। चौथे टेस्ट की दोनों पारियों में वार्नर खाता तक नहीं खोल पाए थे और दोनों बार उनका विकेट ब्रॉड ने ही चटकाया था। हालांकि वार्नर के खराब फॉर्म के बावजूद कोच लेंगर ने उनका समर्थन किया।

इंग्लैंड की दोहरी चिंता : दूसरी ओर 50 ओवरों का विश्व कप पहली बार जीतने वाली इंग्लैंड टीम सीरीज में बराबरी के इस आखिरी मौके को गंवाना नहीं चाहेगी। टीम इस समय दोहरी चिंता से परेशान हैं। कप्तान जो रूट का बल्ला नहीं चल रहा है जबकि बेन स्टोक्स के इस मैच में खेलने पर संशय बना हुआ है। रूट की टीम में स्थिति पर सवाल उठने लगे हैं। स्टोक्स इंग्लैंड की 13 सदस्यीय टीम में है, लेकिन उनकी फिटनेस का आकलन किया जाएगा। वह नहीं खेलते हैं तो सैम कुर्रन या क्रिस वोक्स में से एक को जगह मिलेगी।

टीम के लिए बेलिस का आखिरी मैच : इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस का यह टीम के साथ आखिरी मैच होगा और टीम अपने कोच को विजयी विदाई देना चाहेगी। इंग्लैंड की टीम चाहेगी कि उसके बल्लेबाज इस मैच में रन बनाएं। स्टोक्स ने जरूर हेडिंग्ले में मैच जिताऊ पारी खेली थी, लेकिन चौथे मैच में अपने 11वें ओवर में वह अपना कंधा चोटिल करा बैठे थे। इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में गेंदबाजी कराने नहीं आए थे। विश्व कप की शानदार लय को जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो और जोस बेटलर इस सीरीज में कायम नहीं रख पाए हैं जिसके कारण मेजबान टीम को परेशानी का सामना करना पड़ा है।

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप