लंदन, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए ओवल टेस्ट मैच में टीम इंडिया को 118 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच के आखिरी दिन लोकेश राहुल और विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत ने शतक जड़कर भारत की जीत की उम्मीदें जगा दी थीं, लेकिन इन उम्मीदों को तोड़ा इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाज़ आदिल राशिद ने। राशिद ने एक ऐसी गेंद फेंककर राहुल का विकेट लिया जिसे खेल पाना दुनिया के बड़े से बड़े बल्लेबाज़ के लिए नामुमकिन था। राशिद ने ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वॉर्न जैसी जादुई गेंद फेंककर राहुल की पारी पर ब्रेक लगा दी।

राशिद की वो जादुई गेंद

आदिल राशिद के सामने 149 रन पर बल्लेबाज़ी कर रहे लोकेश राहुल थे। राशिद ने लेग स्टंप के भी काफी बाहर गेंद फेंकी और वो रफ में टप्पा खा कर इतनी टर्न कर गई कि उसने लोकेश राहुल का ऑफ स्टंप ही उड़ा दिया। राहुल इस गेंद को खेलने के लिए लेग साइट की ओर मुड़ चुके थे और उनके पास इतना समय भी नहीं था कि वो खुद को वापस गेंद की लाइन में ला सकें।

राशिद की ये गेंद शेन वॉर्न की बॉल ऑफ द सेंचुरी की याद दिला गई। इस वजह से राशिद की इस गेंद को 21वीं शताब्दी की सर्वश्रेष्ठ गेंद कहा जाने लगा है। शेन वॉर्न ने 1993 के एशेज के दौरान ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट में इंग्लैंड के माइक गेटिंग को जिस गेंद पर बोल्ड किया था, उसे 20वीं शताब्दी की सर्वश्रेष्ठ गेंद कही जाती है और वो गेंद भी इससे कुछ मिलती जुलती थी।

इस मैच में लोकेश राहुल ने अपने टेस्ट करियर का पांचवां शतक जमाते हुए 149 रन बनाए। खास बात ये है कि राहुल का ये शतक  20 महीने और 28 पारियों के बाद आया। इससे पहले राहुल ने जो शतक लगाया था वो दो साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ ही जड़ा था। चेपॉक के मैदान पर वो दोहरे शतक से चूक गए थे। उस मुकाबले में वो 199 रन बनाकर आउट हो गए थे और इस मैच में वो 149 रन पर अपना विकेट गंवा बैठे। इस शतक से पहले राहुल इस सीरीज़ में एक अदद अर्धशतक लगाने तक के लिए तरस रहे थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Pradeep Sehgal