नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड में टीम इंडिया पहले दो टेस्ट मैच हार चुकी है। लॉर्ड्स में हार के बाद तो भारतीय टीम को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। एक तो बल्लेबाज़ों की नाकामी दूसरा सही टीम कॉम्बिनेशन न चुन पाने के चलते भी भारतीय टीम मैनेजमेंट को खरी-खोटी बाते सुनने को मिल रही हैं। अब भारत के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगरसरकर ने कहा है कि भारत को तीसरे टेस्ट मैच में युवा विकेटकीपर बल्लेबाज़ रिषभ पंत को मौका देना चाहिए।

'पंत को मिलना चाहिए मौका'

दिलीप वेंगसरकर ने कहा कि नॉटिंघम में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में रिषभ पंत को टीम में शामिल किया जाना चाहिए, क्योंकि पिछले दोने ही टेस्ट मैचों में दिनेश कार्तिक न तो बल्ले से ही रन बना पाएं है और न ही विकेटकीपिंग में ही वो कोई खास कमाल कर सके हैं। आपको बता दें कि अगर रिषभ पंत को नॉटिंघम में प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया तो ये उनका पहला टेस्ट मैच होगा। जिस तरह टीम इंडिया ने इस टेस्ट श्रृंखला में प्रदर्शन किया है उसे देखकर तो लगता है कि ट्रैंटब्रिज़ में पंत अपना टेस्ट डेब्यू कर सकते हैं। 

कार्तिक ने किया निराश

कार्तिक ने एजबेस्टन में खेले गए टेस्ट मैच में कार्तिक पहली पारी में बिना खाता खोले ही आउट हो गए थे, तो दूसरी पारी में उन्होंने 20 रन बनाए थे। लॉर्ड्स टेस्ट मैच में तो उनका प्रदर्शन एजबेस्टन से भी खराब रहा था। लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में वो एक रन बनाकर आउट हुए तो दूसरी पारी में वो बिना खाता खोले ही आउट हो गए थे।

द्रविड़ ने भी की थी पंत की तारीफ

रिषभ को लेकर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने भी कुछ दिन पहले कहा था कि, ये युवा खिलाड़ी टेस्ट के लिए पूरी तरह तैयार हैं और उन्हें मौजूदा सीरीज में मौका मिलना चाहिए। 

बल्लेबाज़ों को बनाने होंगे रन

वेंगसरकर ने इसके साथ ही कहा कि विराट कोहली के अलावा और किसी भी बल्लेबाज को देखकर ऐसा नहीं लगा कि वो रन बना सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इंग्लैंड हो या ऑस्ट्रेलिया आपकी टीम को वहां जाकरसबसे पहले परिस्थितियों से तालमेल बैठाना होगा। जल्दी से जल्द वहां की परिस्थितियों के मुताबिक खुद को ढालकर रन बनाने होंगे।

ऐसे कैसे जीतोगे?

आपको बता दें कि एजबेस्टन में खेले गए पहले टेस्ट में भारत को 31 रन से हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर भारतीय टीम को पारी और 159 रन की करारी हार का सामना करना पड़ा था। लॉर्ड्स की दोनों पारियों में तो भारतीय टीम 150 रन तक का आंकड़ा नहीं छू सकी थी। पहले पारी में भारतीय बल्लेबाज़ों ने सिर्फ 107 रन पर सरेंडर कर दिया, तो दूसरी पारी में टीम इंडिया 130 रन पर ढेर हो गई थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal