नई दिल्ली। भारतीय टीम प्रबंधन पिछले चार साल से नंबर चार के स्थान के बल्लेबाज के लिए विकल्प तलाशता रहा, लेकिन इस स्थान के लिए उसे कोई स्थाई दावेदार नहीं मिल सका। ऐसे में चौथा नंबर भारतीय बल्लेबाजी क्रम की सबसे कमजोर कड़ी बन गया है। हालांकि विजय शंकर, दिनेश कार्तिक और केएल राहुल में से कोई एक विश्व कप में चौथे नंबर पर उतर सकता है, लेकिन इस बात की संभावना से भी इन्कार नहीं किया जा सकता कि इनकी असफलता पर टीम प्रबंधन कुछ और भी प्रयोग कर सकता है।

विश्वास खो बैठे रहाणे व रैना : 2015 के विश्व कप में भारत ने आठ मैच खेले थे जिनकी सात पारियों में नंबर चार बल्लेबाज को खेलने का मौका मिला। इनमें से इस स्थान पर छह बार अजिंक्य रहाणे उतरे तो एक बार सुरेश रैना। रहाणे ने 41.60 की औसत एवं 82.86 के स्ट्राइक रेट से एक अर्धशतक के साथ कुल 208 रन बनाए, जबकि रैना ने एक मात्र पारी में 132.14 के स्ट्राइक रेट से 74 रन बनाए। यह कोई खराब प्रदर्शन नहीं था, लेकिन इत्तेफाक से ये दोनों बल्लेबाज चयनकर्ताओं एवं टीम प्रबंधन का विश्वास खो बैठे।

12 बल्लेबाज आजमाए : पिछले विश्व कप के बाद से भारत ने कुल 86 वनडे मैच खेले हैं। इनमें से 79 मैच ऐसे रहे जिनमें नंबर चार बल्लेबाज को मौका मिला। इस दौरान नंबर चार पर कुल 12 बल्लेबाजों को आजमाया गया। इनमें रहाणे भी शामिल थे। अंबाती रायुडू, महेंद्र सिंह धौनी, युवराज सिंह, दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, मनोज तिवारी, केएल राहुल, केदार जाधव, रिषभ पंत और खुद कप्तान विराट कोहली भी नंबर चार पर कभी ना कभी बल्लेबाजी करने उतरे।

रायुडू का दावा था सबसे मजबूत : करीब साल भर पहले तक नंबर चार की पोजीशन पर सबसे मजबूत दावा रायुडू का माना जा रहा था। पिछले विश्व कप के बाद से उन्हें ही नंबर चार पर सबसे ज्यादा मौके दिए गए और उन्होंने उसका फायदा भी उठाया। इस दौरान कुल सात बल्लेबाज ऐसे रहे जिन्हें नंबर चार पर कम से कम पांच पारियां खेलने का मौका मिला। इनमें रायुडू, धौनी, रहाणे, युवराज, कार्तिक, पांडे और हार्दिक शामिल हैं। इनमें से पांडे और हार्दिक को छोड़ दिया जाए तो बाकी सभी का औसत 40 से ज्यादा और स्ट्राइक रेट 70 से ज्यादा का रहा।

स्कीम में फिट नहीं रायुडू, युवराज व पांडे : पिछले विश्व कप के बाद से नंबर चार पर कार्तिक अकेले ऐसे बल्लेबाज रहे जिनका औसत 50 से ज्यादा रहा। हार्दिक ने 100 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से रन बनाए, लेकिन उनका औसत 30 का रहा। रायुडू, रहाणे और युवराज ने 40 से ज्यादा की औसत और 85 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए। रायुडू, युवराज और पांडे ने नंबर चार पर शतक भी जड़ा, लेकिन ये तीनों ही चयनकर्ताओं की स्कीम में फिट नहीं बैठे।

पहेली सुलझेगी या बढ़ेगी उलझन : टीम चयन के समय चयनकर्ताओं ने साफ किया कि शंकर का ऑलराउंडर होना रायुडू पर भारी पड़ गया। कार्तिक के लिए तर्क दिया गया कि यदि धौनी को कुछ होता है तो कार्तिक विकेटकीपिंग भी कर सकते हैं, जबकि राहुल के लिए कहा गया कि वह जरूरत पड़ने पर ओपनिंग भी कर सकते हैं। कमाल की बात तो यह है कि रायुडू की अनदेखी कर चयनकर्ताओं ने नंबर चार के लिए जिस शंकर को तरजीह दी है उन्हें तो अपने छोटे से वनडे करियर में नंबर चार पर खेलने का कभी मौका भी नहीं मिला। अब देखना होगा कि विश्व कप जैसे अहम टूर्नामेंट में भारतीय बल्लेबाजी क्रम की नंबर चार की पहेली सुलझेगी या भारतीय टीम की उलझन और ज्यादा बढ़ाएगी।

नाम : विजय शंकर

उम्र : 28 साल (26 जनवरी 1991)

जन्मस्थान : तिरुनेलवेली (तमिलनाडु)

भूमिका : मध्य क्रम के बल्लेबाज और उपयोगी गेंदबाज

शैली : दायें हाथ के बल्लेबाज और मध्यम तेज गेंदबाज

वनडे करियर रिकॉर्ड

मैच, पारी, नाबाद, रन, सर्वाधिक, औसत, स्ट्राइक रेट, 100/50

9, 5, 0, 165, 46, 33.00, 96.49, 0/0

साल 2019 में (वनडे)

9, 5, 0, 165, 46, 33.00, 96.49, 0/0

आइपीएल-12 (टी-20)

15, 14, 2, 244, 40*, 20.33, 126.42, 0/0

नोट :-शंकर पहली बार विश्व कप, आइसीसी टूर्नामेंट और इंग्लैंड में खेलेंगे।

नाम : केएल राहुल

उम्र : 27 साल (18 अप्रैल 1992)

जन्मस्थान : बेंगलुरु (कर्नाटक)

भूमिका : मध्य क्रम के बल्लेबाज और पार्टटाइम विकेटकीपर

शैली : दायें हाथ के बल्लेबाज

वनडे करियर रिकॉर्ड

मैच, पारी, नाबाद, रन, सर्वाधिक, औसत, स्ट्राइक रेट, 100/50

14, 13, 3, 343, 100*, 34.30, 80.89, 1/2

इंग्लैंड में (वनडे)

2, 2, 1, 9, 9*, 9.00, 45.00, 0/0

साल 2019 में (वनडे)

1, 1, 0, 26, 26, 26.00, 83.87, 0/0

आइपीएल-12 (टी-20)

14, 14, 3, 593, 100*, 53.90, 135.38, 1/6

- राहुल पहली बार विश्व कप और आइसीसी टूर्नामेंट में खेलेंगे।

नाम : दिनेश कार्तिक

उम्र : 33 साल (एक जून 1985)

जन्मस्थान : चेन्नई (तमिलनाडु)

भूमिका : मध्य क्रम के बल्लेबाज और विकेटकीपर

शैली : दायें हाथ के बल्लेबाज

वनडे करियर रिकॉर्ड-

मैच, पारी, नाबाद, रन, सर्वाधिक, औसत, स्ट्राइक रेट, 100/50

91, 77, 21, 1738, 79, 31.03, 73.70, 0/9

इंग्लैंड में (वनडे)

13, 11, 4, 155, 51*, 22.14, 76.35, 0/1

आइसीसी टूर्नामेंट में (वनडे)

7, 5, 2, 116, 51*, 38.66, 66.66, 0/1

साल 2019 में (वनडे)

5, 4, 2, 75, 38*, 37.50, 98.68, 0/0

आइपीएल-12 (टी-20)

14, 13, 5, 253, 97*, 31.62, 144.24, 0/2

- कार्तिक 2007 विश्व कप टीम का हिस्सा थे, लेकिन उन्हें तब कोई मैच खेलने को नहीं मिला था।

2015 विश्व कप के बाद नंबर चार पर भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन-

बल्लेबाज, पारी, नाबाद, रन, सर्वाधिक, औसत, स्ट्राइक रेट, 100/50

अंबाती रायुडू, 14, 3, 464, 100, 42.18, 85.60, 1/2

महेंद्र सिंह धौनी, 12, 1, 448, 87*, 40.72, 76.84, 0/3

अजिंक्य रहाणे, 10, 1, 420, 89, 46.66, 92.71, 0/4

युवराज सिंह, 9, 1, 358, 150, 44.75, 97.54, 1/1

दिनेश कार्तिक, 9, 4, 264, 64*, 52.80, 71.35, 0/2

मनीष पांडे, 7, 2, 183, 104*, 36.60, 92.89, 1/0

हार्दिक पांड्या, 5, 0, 150, 78, 30.00, 106.38, 0/1

मनोज तिवारी, 3, 0, 34, 22, 11.33, 46.57, 0/0

विराट कोहली, 3, 0, 30, 12, 10.00, 71.42, 0/0

केएल राहुल, 3, 1, 26, 17, 13.00, 59.09, 0/0

केदार जाधव, 3, 1, 18, 12, 9.00, 50.00, 0/0

रिषभ पंत 1, 0, 16, 16, 16.00, 100.00, 0/0

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप