नई दिल्ली, जेएनएन। मौजूदा समय में टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों की लिस्ट में टॉप पर हैं। अपने शुरुआती क्रिकेट करियर में दुनियाभर में सनसनी मचाने वाले जसप्रीत बुमराह की सफलता का राज वर्ल्ड कप से पहले उजागर हो गया है। 22 मई को इंग्लैंड में वर्ल्ड कप खेलने के लिए उड़ान भरने वाले जसप्रीत बुमराह की सफलता के पीछे का राज 'रिवर्स मैग्नेस फोर्स' है। ये हमने नहीं बल्कि IIT कानपुर के एक प्रोफेसर ने कहा है।

आइआइटी कानपुर के प्रोफेसर संजय मित्तल ने अपने एक अध्ययन में बताया है कि जसप्रीत बुमराह की तेजी, सीम पोजीशन और 1000 आरपीएम की रोटेशनल तेजी उनकी गेंद को 0.1 का स्पिन अनुपात देती है जिससे उस पर रिवर्स मैग्नेस प्रभाव होता है। प्रोफेसर मित्तल का कहना है, "बुमराह की गेंद तेजी से नीचे आती है जिसकी वजह से बल्लेबाजों को उसे खेलने में ज्यादा परेशानी होती है। यही कारण है कि वे इतने प्रभावशाली हैं।"

एक अनोखे एक्शन से सभी को परेशान करने वाले डेथ ओवर्स स्पेशलिस्ट गेंदबाज जसप्रीत बुमराह 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में होने वाले वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के लिए बड़ी भूमिका निभाएंगे। 25 वर्षीय जसप्रीत बुमराह मौजूदा समय में टीम इंडिया के की प्लेयर्स हैं, जिन पर टीम के कप्तान, कोच और मैनेजमेंट को पूरा भरोसा है। हाल ही में जसप्रीत बुमराह ने आइपीएल में भी अपनी खतरनाक गेंदबाजी से मुंबई इंडियंस को चैंपियन बनाया है।

जसप्रीत बुमराह के अंतरराष्ट्रीय करियर की बात करें तो उन्होंने अभी तक मात्र 10 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें 21.89 की औसत से उन्होंने 49 विकेट चटकाए हैं। वहीं, अब तक खेले 49 वनडे मैचों में जसप्रीत बुमराह 22.15 की औसत से 85 शिकार कर चुके हैं। इसके अलावा 42 इंटरनेशनल टी20 मैचों में 20.17 की औसत से जसप्रीत बुमराह 51 विकेट झटक चुके हैं। साथ ही साथ, आइपीएल में उनका प्रदर्शन काफी दमदार है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप