नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ में टीम इंडिया के कप्तान कोहली का बल्ला रनों की बरसात कर रहा है। इस टेस्ट सीरीज़ में उनके बल्ले से दो शतकों के साथ-साथ दो अर्धशतक भी निकले हैं। 30 अगस्त से साउथैंप्टन में होने वाले चौथे टेस्ट मैच में कोहली के पास दो-दो खास उपलब्धियां हासिल करने का शानदार मौका है।

द्रविड़ के रिकॉर्ड पर कोहली की नज़र

विराट कोहली मौजूदा टेस्ट सीरीज़ के तीन मैचों में 440 रन बना चुके हैं। वे इंग्लैंड में एक सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान बन चुके हैं और अब उनकी निगाहें राहुल द्रविड़ के रिकॉर्ड पर टिकी रहेंगी। इंग्लैंड में एक टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने का भारतीय रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम दर्ज है। उन्होंने 2002 में 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में 602 रन बनाए थे। द्रविड़ ने इस सीरीज के दौरान एक दोहरा शतक (217) और दो शतक (148 और 115) भी ठोके थे। ऐसे में कोहली के पास ये बेहतरीन मौका है राहुल द्रविड़ के रिकॉर्ड को तोड़ने का।

विराट 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के 3 मैचों में 440 रन बना चुके हैं। उन्हें यह रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अभी 163 रन और बनाने होंगे। उन्होंने इस सीरीज के दौरान दो शतक (149 और 103) और दो फिफ्टी (97 व 51 रन) भी लगाई है। वे अभी जैसा प्रदर्शन कर रहे है उसे देखते हुए उनके इस रिकॉर्ड को तोड़ने की प्रबल संभावना है।

6 रन से बनेंगे 6 हज़ारी

साउथैंप्टन टेस्ट में विराट कोहली छह रन बनाते ही सफेद कपड़ों की क्रिकेट में अपने छह हज़ार रन भी पूरे कर लेंगे। कोहली ने अभी तक 69 टेस्ट मैचों में 54.49 की औसत से 5994 रन बनाए हैं। उन्हें 6000 रन पूरे करने के लिए 6 रन चाहिए। टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे करते ही वो ऐसा करने वाले 10वें भारतीय बल्लेबाज़ बन जाएंगे।

कोहली से पहले ये कमाल नौ भारतीय खिलाडी कर चुके हैं। जिन भारतीय बल्लेबाज़ों ने ये उपलब्धि हासिल की है उनमें सचिन तेंदुलकर (15921 रन), राहुल द्रविड़ (13625), सुनील गावस्कर (10122), वीवीएस लक्ष्मण (8781), वीरेंद्र सहवाग (8503), सौरव गांगुली (7212), दिलीप वेंगसरकर (6868), मो. अजहरुद्दीन (6215) और गुंडप्पा विश्वनाथ (6080) शामिल हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Pradeep Sehgal