नई दिल्ली, जेएनएन। Virat Kohli Bowling: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और इस सीरीज से पहले तक दुनिया के नंबर वन टेस्ट बैट्समैन 'द रन मशीन कोहली' न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में बुरी तरह फ्लॉप रहे। बतौर बल्लेबाज विराट कोहली के लिए ये सीरीज ही नहीं, बल्कि ये दौरा काफी खराब गुजरा, जहां वे सिर्फ एक अर्धशतक ही जड़ सके। वहीं, टेस्ट सीरीज में वे 20 रन का व्यक्तिगत स्कोर भी नहीं बना सके।

कीवी टीम के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज की चार पारियों में विराट कोहली ने कुल मिलाकर 38 रन बनाए। 4 पारियों में या यू कहें कि एक टेस्ट सीरीज में एक वर्ल्ड क्लास बैट्समैन के ये आंकड़े शर्मसार कर देने वाले हैं। इससे पहले दो मैचों की टेस्ट सीरीज उनके लिए पिछले साल वेस्टइंडीज के दौरे पर खराब गई थी। हालांकि, उस सीरीज में उन्होंने 136 रन बनाए थे, लेकिन यहां वे सिर्फ और सिर्फ 38 रन बना पाए, जो कि हैरान करनी वाली बात है।

गेंदबाज बने विराट कोहली

ऐसे में बतौर बल्लेबाज पूरी तरह से फ्लॉप हुए विराट कोहली के प्रदर्शन का असर भारतीय टीम पर भी पड़ा और टीम दो मैचों की टेस्ट सीरीज हार गई। हालांकि, टेस्ट सीरीज और आखिरी मैच हारने की कगार पर भारतीय टीम जब खड़ी थी तो विराट कोहली ने गेंदबाजी का जिम्मा संभाला, लेकिन तब तक भारतीय टीम के हाथ से सबकुछ निकल चुका था और कीवी टीम को जीत के लिए सिर्फ 7 रन बनाने थे। इसलिए विराट कोहली भी गेंदबाजी कराने आ गए।

जिस तरह बल्ले से वे इस सीरीज में कुछ नहीं कर पाए उसी तरह बतौर गेंदबाज विराट कोहली का प्रदर्शन ढाक के तीन पात यानी नतीजा शून्य रहा। विराट कोहली ने अपने अजीब से एक्शन से एक ओवर गेंदबाजी की और ओवर की चौथी गेंद पर चौका खा लिया। इसी के साथ मैच और कीवी टीम के करीब चला गया। विराट ने एक ओवर में 4 रन दिए और कोई विकेट हासिल नहीं किया। यहां तक कि एक मामूली अपील तक उनके ओवर में नहीं हुई।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस