नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम अंडर 19 क्रिकेट विश्व कप में बतौर डिफेंडिंग चैंपियन खेलने उतरी है। प्रियंम गर्ग की कप्तानी वाली टीम ने टूर्नामेंट का आगाज जीत के साथ किया और जापान के खिलाफ भी उसकी शानदार गेंदबाजी देखने को मिली। भारतीय स्पिनर रवि विशनोई इस टूर्नामेंट में चार गेंद पर चार विकेट हासिल किए लेकिन फिर भी इसे हैट्रिक में नहीं गिना जाएगा।

भारत अंडर 19 विश्व कप के अपने दूसरे मुकाबले में जापान के खिलाफ पहले गेंदबाजी करते हुए दबाव बनाने में कामयाब रही। महज 19 रन के स्कोर पर रवि विशनोई की घातक गेंदबाज के दम पर जापान के 7 विकेट गिरा दिए। इस मैच में रवि ने विकटों की शुरुआत दो लगातार गेंद पर दो विकेट लेकर की लेकिन वो हैट्रिक से चूक गए।

रवि विशनोई ने 4 गेंद पर लिए 4 विकेट

भारतीय टीम के 19 साल के युवा स्पिनर ने विश्व कप के पहले मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ भी लाजवाब गेंदबाजी की थी। उन्होंने 10 ओवर में 44 रन देकर दो विकेट चटकाए थे। यह दोनों विकेट उन्होंने पारी के आखिरी में लिए थे। जापान के खिलाफ रवि ने पहली दो गेंद पर दो विकेट झटके। इस तरह से रवि के नाम टूर्नामेंट में चार लगातार गेंद चार विकेट लेने का कीर्तिमान दर्ज हुआ।

4 लगातार गेंद पर विकेट क्यों नहीं मानी जाएगी हैट्रिक

रवि ने श्रीलंका और जापान के खिलाफ मुकाबले को मिलाकर चार लगातार गेंद पर चार विकेट हासिल लिए लेकिन यह अलग अलग टीमों के खिलाफ अलग अलग मैच में है। नियम के मुताबिक अगर रवि ने एक ही मैच में अलग अलग स्पेल में भी तीन विकेट लिए होते तो हैट्रिक माना जाता लेकिन ऐसा नहीं होने की वजह से इसे हैट्रिक नहीं माना जाएगा।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस