नई दिल्ली, संजय सावर्ण। श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए दो टेस्ट मैचों की सीरीज में प्रोटियाज का जो हाल हुआ उसके बारे में इस टीम ने शायद ही कभी सोचा होगा। दक्षिण अफ्रीका को दोनों ही टेस्ट मैचों में मेजबान टीम के हाथों बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा। पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 278 और दूसरे मैच में 199 रन के बड़े अंतर से हराकर टेस्ट सीरीज पर कब्जा किया। इस टेस्ट सीरीज की सबसे खास बात ये रही कि स्पिनर्स का खूब बोलबाला रहा। दोनों ही टीमों के स्पिनर्स ने इन दो टेस्ट मैचों की सीरीज में जमकर विकेट लिए और सबसे बड़ी बात ये कि दोनों टीमों के तीन स्पिनर्स ने मिलकर कुल 44 विकेट चटकाए।

तीन स्पिनर्स ने लिए 44 विकेट 
इस टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के दो जबकि मेहमान टीम के एक स्पिनर ने पूरी सीरीज में धमाकेदार प्रदर्शन किया। श्रीलंका के दोनों मुख्य स्पिनर दिलरुवान परेरा और रंगना हेराथ ने जमकर विकेट लिए। परेरा ने दो टेस्ट मैचों में कुल 16 शिकार किए जबकि हेराथ ने इतने ही मैचों में कुल 12 विकेट लिए। यानी इन दोनों गेंदबाजों ने दो टेस्ट मैचों में कुल 28 विकेट लिए। इन दोनों के अलावा विकेट लेने के मामले में दक्षिण अफ्रीका के मुख्य स्पिनर केशव महाराज भी पीछे नहीं रहे और दो टेस्ट में उन्होंने भी कुल 16 बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया। यानी इन तीनों स्पिनर्स के विकेटों की संख्या को जोड़ दें तो ये आंकड़ा 44 पर पहुंच जाता है।  

परेरा ने मारी बाजी
इस टेस्ट सीरीज में गेंदबाजी के मामले में दिलरुवान परेरा ने बाजी मारी। दो मैचों में परेरा ने 2.60 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी करते हुए कुल 16 विकेट लिए। उन्होंने इन मैचों में कुल 79.5 ओवर गेंदबाजी करते हुए 208 रन दिए और 17 ओवर मेडन भी फेंके। इस सीरीज के दौरान एक पारी में उनकी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी 32 रन देकर 6 विकेट रहा जबकि एक मैच में 78 रन देकर 10 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। गेंदबाजी के मामले में परेरा नंबर एक पर रहे। 

केशव ने किया कमाल
दक्षिण अफ्रीका के केशव महाराज ने इस टेस्ट सीरीज में कमाल की गेंदबाजी की। वो एक पारी में 10 विकेट लेने से चूक गए लेकिन उन्होंने दिखा दिया कि जब विदेशी गेंदबाज को भी उनके मुताबिक पिच मिल जाए तो वो कितने घातक साबित हो सकते हैं। दो टेस्ट मैचों में केशव ने भी 16 विकेट हासिल किए। उनका इकॉनामी रेट 3.30 का रहा। एक पारी में उनका बेस्ट प्रदर्शन 129 रन देकर 9 विकेट रहा जबकि एक मैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 283 रन देकर 12 विकेट रहा। गेंदबाजी के मामले में वो दूसरे नंबर पर रहे। परेरा का इकॉनामी रेट महाराज से कम रहा इस वजह से वो पहले नंबर पर आ गए गए हालांकि विकेट दोनों ने ही बराबर ही लिए। महाराज ने दो मैचों में 118.1 ओवर गेंदबाजी की और 390 रन लुटाए। उन्होंने इस दौरान 22 ओवर मेडन भी फेंके। 

अनुभवी हेराथ ने भी की अच्छी गेंदबाजी
श्रीलंका के अनुभवी स्पिनर रंगना हेराथ भी इस टेस्ट सीरीज में विकेट लेने के मामले तीसरे नंबर पर रहे। हेराथ ने दो टेस्ट मैचों में कुल 12 विकेट चटकाए। हेराथ ने इस टेस्ट सीरीज की एक पारी में 98 रन देकर 6 विकेट लिए जबकि एक टेस्ट मैच में 130 रन देकर 7 विकेट लिए और ये उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा। हेराथ ने कुल 74.5 ओवर गेंदबाजी की जिसमें उन्होंने 207 रन दिए और 15 ओवर मेडन फेंके। उनका इकॉनामी रेट 2.76 रहा। 

पूरी तरह से फ्लॉप रहे तेज गेंदबाज
ये टेस्ट सीरीज पूरी तरह से स्पिनर्स के नाम रहा ये कहना गलत नहीं होगा। पूरी सीरीज के दौरान स्पिनर्स ही छाए रहे। तेज गेंदबाजों में दक्षिण अफ्रीका के रबादा ही अपनी छाप छोड़ने में कामयाब हो पाए और उन्होंने दो टेस्ट में 8 विकेट लिए। हालांकि वो विकेट लेने के मामले में चौथे नंबर पर रहे लेकिन तेज गेंदबाजों की बात की जाए तो वो विकेट लेने के मामले में पहले नंबर पर रहे। इस टेस्ट सीरीज में डेल स्टेन जैसा तूफानी गेंदबाज सिर्फ दो विकेट ही ले पाया। इस पूरी सीरीज के पांच टॉप गेंदबाजों में चार स्पिनर्स थे जबकि एक तेज गेंदबाज था। इस टेस्ट सीरीज के टॉप पांच गेंदबाज। 

दिलरुवान परेरा (श्रीलंका) - 16 विकेट
केशव महाराज (दक्षिण अफ्रीका) - 16 विकेट
रंगना हेराथ (श्रीलंका) - 12 विकेट
कगिसो रबादा (दक्षिण अफ्रीका) - 8 विकेट
अकीला धनंजय (श्रीलंका) - 7 विकेट

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस