नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने 15 साल पूरे कर लिए हैं। भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा से भी पहले इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सुरेश रैना को पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के पसंदीदा खिलाड़ियों में से एक माना जाता है। यहां तक कि वे इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी धौनी की कप्तानी में ही खेल रहे हैं।

भले ही आज यानी 30 जुलाई 2020 को सुरेश रैना ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर के 15 साल पूरे कर लिए हैं, लेकिन वे इस मैच को याद नहीं करना चाहेंगे। डेब्यू मैच अपने आप में खास तो होता है, लेकिन जब आपको उसमें मायूसी हाथ लगे तो आप उसको याद नहीं करना चाहते। ऐसा ही कुछ बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना के साथ हुआ था, जो मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने के लिए फेमस थे। घरेलू क्रिकेट के बाद उनको अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मौका मिला था।

दरअसल, श्रीलंका में जुलाई-अगस्त 2005 में भारत, वेस्टइंडीज और मेजबान श्रीलंका के बीच त्रिकोणीय सीरीज खेली गई थी। इसी सीरीज के पहले मैच में 30 जुलाई 2005 को श्रीलंका के खिलाफ दांबुला के मैदान पर सुरेश रैना ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू किया था। राहुल द्रविड़ की कप्तानी में खेली गई इस सीरीज में सचिन तेंदुलकर भारतीय दल का हिस्सा नहीं थे। उस सीरीज में रैना को 3 मैच खेलने का मौका मिला था और आखिरी के दो मैचों में वे टीम से बाहर हो गए थे।

सीरीज का पहला मैच खेलने वाले सुरेश रैना ने 6 नंबर पर बल्लेबाजी की। रैना को इंटरनेशनल क्रिकेट में पहली बार मुथैया मुरलीधरन की गेंद का सामना करना था, लेकिन रैना मुरलीधरन की पहली ही गेंद पर lbw आउट हो गए। पहले मैच में ही सुरेश रैना को गोल्डन डक का शिकार होना पड़ा था। इतना ही नहीं, भारतीय टीम को इस मैच में हार मिली थी। यही कारण है कि सुरेश रैना क्या कोई भी इस मैच को याद नहीं करना चाहेगा। हालांकि, रैना के लिए फिर भी ये मैच यादगार था।

द्रविड़ की कप्तानी में सुरेश रैना को दूसरा मौका, दूसरे ही मैच में मिला। यहां उनके लिए काम आसान था, क्योंकि लक्ष्य भी उस वनडे मैच में ज्यादा नहीं था। वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम को 189 रन बनाने थे, लेकिन 3 रन पर वीरेंद्र सहवाग के रूप में पहला विकेट गिर गया था। ऐसे में नंबर 3 पर सुरेश रैना को प्रमोट किया गया और उन्होंने मोहम्मद कैफ के साथ मिलकर 65 रन की साझेदारी की, लेकिन कैफ 24 रन बनाकर आउट हो गए। वहीं, रैना ने इस मैच में 42 गेंदों में 35 रन बनाए थे।

सुरेश रैना ने अपने इस यादगार दिन के मौके पर एक ट्वीट करते हुए अपने फैंस को धन्यवाद किया है। रैना ने ट्वीट में लिखा है, "बहुत बहुत धन्यवाद दोस्तों, वास्तव में आपके प्यार और समर्थन से अभिभूत हूं। ये 15 साल मेरे लिए सबसे महान पल रहे हैं, और आप लोग और मेरे परिवार के सदस्यों ने मुझे प्रेरित किया है।" इसके साथ उन्होंने #15yearsofRaina भी लिखा है।

अपने पूरे करियर में मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने वाले सुरेश रैना ने 226 वनडे मैचों की 194 पारियों में 35 बार नाबाद रहते हुए 35 से ज्यादा के औसत से 5 शतक और 36 अर्धशतकों के साथ 5615 रन बनाए हैं। रैना ने अपना आखिरी वनडे साल 2018 में खेला था। वहीं, टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में रैना ने 78 मैचों में 1604 रन बनाए हैं, जिसमें 1 शतक और 5 अर्धशतक शामिल हैं। हालांकि, रैना का टेस्ट रिकॉर्ड बहुत ही खराब है।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस