नई दिल्ली, संजय सावर्ण। विराट की कप्तानी में पहली बार इंग्लैंड की धरती पर टेस्ट सीरीज खेलने आई टीम इंडिया का सीरीज में जीतने का सपना टूट गया। चौथे टेेस्ट मैच की दूसरी पारी में जब विराट और रहाणे क्रीज पर थे तब ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया को जीत मिल सकती है लेकिन भारत और उसकी जीत के बीच में आ गए मोइन अली। मोइन ने इस मैच की पहली पारी में भी टीम इंडिया को बड़ा झटका दिया था और दूसरी पारी में भी उनका वही जलवा बरकरार रहा। साफ तौर पर टीम इंडिया के लिए मोइन सबसे बड़े विलेन साबित हुए और भारत को हराने में उन्होंने अपनी टीम के लिए बड़ी भूमिका निभाई। इस मैच में मोइन ने कुल 9 विकेट लिए और मैन ऑफ द मैच बने। 

मोइन ने यहां पर बदल दिया खेल

भारतीय टीम को दूसरी पारी में शुरुआती झटके लगे। इसके बाद कप्तान विराट और रहाणे ने धीरे-धीरे पारी को आगे बढ़ाना शुरू कर दिया। दोनों पूरी तरह से सेट भी थे और ऐसा लग रहा था कि भारत मैच जीत सकता है लेकिन मैच की दूसरी पारी के 51वें ओवर में मोइन ने कप्तान विराट को आउट कर इंग्लैंड की जीत का रास्ता साफ कर दिया। इस ओवर की पांचवीं गेंद पर मोइन ने विराट को 58 रन के स्कोर पर एलिएस्टर कुक के हाथों कैच आउट करवा दिया। इसके बाद उन्होंने दूसरे सेट बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को भी अपना शिकार बनाया और 51 रन पर उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट कर इंग्लैंड की जीत लगभग पक्की कर दी। मोइन ने दोनों सेट बल्लेबाजों को आउट कर इंग्लैंड को बड़ी राहत पहुंचाई। 

दूसरी पारी में भी मोइन का जलवा

दूसरी पारी में भारत को जीत के लिए 245 रन का जो लक्ष्य मिला था वो आसान नहीं था साथ ही मेजबान टीम को सबसे ज्यादा खतरा मोइन अली से ही थी। मोइन ने इस बात को सही साबित भी किया। भारत को दूसरी पारी में शुरुआती झटके तेज गेंदबाजों से मिला और बाकी का काम मोइन ने पूरा कर दिया। उन्होंने दूसरी पारी में 26 ओवर में 2.83 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी करते हुए 71 रन देकर 4 विकेट लिए। उन्होंने विराट कोहली (58), अजिंक्य रहाणे (51), रिषभ पंत (18) और मो. शमी (08) को अपना शिकार बनाया। मोइन ने इनमें से तीन ऐसे बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा जो मैच का रुख मोड़ सकते थे। 

मोइन ने पहली पारी में लिए थे पांच विकेट

वो मोइन ही थे जिन्होंने पहली पारी में भी भारतीय टीम को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था। मैच की पहली पारी में उन्होंने 16 ओवर में 3.94 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी करते हुए 63 रन देकर 5 विकेट चटकाए थे। मोइन ने पहली पारी में रिषभ पंत (0), हार्दिक पांड्या (4), अश्विन (1), शमी (0) और इशांत शर्मा (14) को आउट किया था। 

शानदार वापसी की मोइन ने

मोइन अली को इंग्लैंड टीम ने पहले तीन टेस्ट मैच में भारत के खिलाफ खेलने का मौका नहीं दिया था। इस दौरान मोइन ने काउंटी क्रिकेट खेलते हुए शानदार दोहरा शतक लगाया और चौथे टेस्ट में उन्हें टीम में जगह दी गई। उन्होंने इंग्लैंड के सेलेक्टर्स का विश्वास कायम रखा और इस मैच में भारत के खिलाफ जीत में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने चौथे टेस्ट मैच में कुल 9 विकेट लिए साथ ही पहली पारी में 40 और दूसरी पारी में 9 रन भी बनाए। 

भारत के खिलाफ टेस्ट में मोइन का प्रदर्शन

भारत के खिलाफ मोइन अली ने अब तक अपने टेस्ट करियर में 10 मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर कुल 37 विकेट हैं। मोइन अली ने भारत के खिलाफ इस टेस्ट मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 9 विकेट लिए। वहीं भारत के खिलाफ टेस्ट मैच की एक पारी में उन्होंने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन वर्ष 2014 में साउथैंप्टन में ही किया था। उस मैच की दूसरी पारी में मोइन अली ने भारत के विरूद्ध 20.4 ओवर में 67 रन देकर 6 विकेट लिए थे। पहली पारी में उन्होंने 2 विकेट लिए थे। मोइन ने अपने टेस्ट करियर में अब तक कुल 51 टेस्ट मैचों में 142 विकेट लिए हैं साथ ही पांच शतक के साथ 2544 रन भी बनाए हैं। 

Posted By: Sanjay Savern