नई दिल्ली, जेएनएन। टेस्ट क्रिकेट के शुरू हुए 140 साल से ज्यादा का समय हो गया है। क्रिकेट के इस फॉर्मेट में दो ही बार एक कमाल हो सका है, जब एक ही गेंदबाज ने पूरी एक पारी को आउट किया है। पहली बार ये कमाल साल 1956 में हुआ था, जबकि दूसरी बार ये कमाल 1999 में हुआ था। पहली बार जब किसी गेंदबाज ने विपक्षी टीम के सभी 10 खिलाड़ियों को आउट किया था तो वो तारीख थी 31 जुलाई और साल था 1956, और आज भी 31 जुलाई ही है, जब हम इस विश्व रिकॉर्ड के बारे में बता रहे हैं।

आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि इस विश्व रिकॉर्ड को बने 64 साल हो गए हैं, लेकिन कोई भी गेंदबाज इसको तोड़ नहीं पाया है। ये रिकॉर्ड विकेटों के मामले में तो टूट नहीं सकता, लेकिन कम रन देकर 10 विकेट लेकर इस रिकॉर्ड को तोड़ा जा सकता है। जी हां, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1956 में 5 मैचों की एशेज सीरीज खेली जा रही थी। उस सीरीज से पहले इंग्लैंड की टीम लगातार दो एशेज सीरीज हार चुकी थी, लेकिन इस बार इंग्लैंड की टीम अपनी मेजबानी में एशेज ट्रॉफी बचाने के लिए खेल रही थी।

5 मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच दोनों देशों के बीच ड्रॉ खेला गया था, लेकिन दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने बाजी मारी थी। ऐसे में एक बार फिर से ऑस्ट्रेलिया सीरीज में आगे हो गई, लेकिन सीरीज के तीसरे मैच में इंग्लैंड ने जीत हासिल की और सीरीज 1-1 से बराबर हो गई। इसके बाद इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर सीरीज का चौथा मैच 26 जुलाई से शुरू हुआ, जो 31 जुलाई को समाप्त हुआ। उस दौरान मैच में एक दिन का ब्रेक होता था। इसलिए मुकाबला 6 दिन चलता था।

इस मैच में इंग्लैंड के कप्तान पीटर मे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी। इंग्लैंड की टीम ने पीटर रिचर्डसन (104), कोलिन कॉरेडी (80) और डेविड शेपर्ड (113) की दमदार पारियों के दम पर 459 रन बनाए। इसके बाज जब ऑस्ट्रेलियाई टीम बल्लेबाजी करने उतरी तो टीम को अच्छी शुरुआत मिली, लेकिन फिर जिम लेकर (Jim Laker) से गेंदबाजी कराई। जिम लेकर के सामने कंगारू टीम के बल्लेबाज घुटने टेकते गए और टीम 40.4 ओवर में 84 रन बना सकी। हैरान करने वाली बात ये रही कि जिम ने 9 विकेट चटकाए।

पहली पारी में 16.4 ओवर गेंदबाजी करते हुए 37 रन देकर 9 विकेट हासिल करने वाले जिम लेकर एक रिकॉर्ड बना चुके थे, क्योंकि उनसे पहले सिर्फ एक गेंदबाज ने ये कमाल किया था। हालांकि, किसको पता था कि उनका बेस्ट इसी मैच में आने वाला है। जी हां, इसी मैच की दूसरी पारी में जिम लेकर ने एक के बाद एक कंगारू टीम के सभी खिलाड़ियों को एक-एक करके पवेलियन भेज दिया और पूरी टीम को अपना शिकार बना लिया। फॉलोऑन खेलने के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम 205 रन पर ढेर हो गई।

इस मैच में जिम लेकर ने 51.2 ओवर में 23 ओवर मेडेन फेंके और 53 रन देकर 10 विकेट झटके। ये आज तक विश्व रिकॉर्ड है। हालांकि, साल 1999 में भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले ने भी एक पारी में 10 विकेट चटकाए थे, लेकिन उन्होंने 74 रन खर्च किए थे। इतना ही नहीं, एक टेस्ट मैच में 19 विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड भी जिम लेकर के ही नाम दर्ज है, क्योंकि इसी मैच की दोनों पारियों में उन्होंने कुल मिलाकर 19 विकेट हासिल किए थे।  

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस