नई दिल्ली, प्रदीप सहगल,[जागरण स्पेशल]। भारत और श्रीलंका के बीच कोलकाता में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने अपना दबदबा बना लिया है। इस मुकाबले के चौथे दिन शिखर धवन ने 94 रन की दमदार पारी खेलकर टीम इंडिया को ड्राइविंग सीट पर पहुंचा दिया। धवन ने इस इनिंग के दौरान एक ऐसा काम कर दिया जो वो अपने टेस्ट करियर में आजतक नहीं कर पाए थे।

ऐसे गरजा गब्बर का बल्ला

ईडन गार्डंस के मैदान पर शिखर धवन ने 116 गेंदों का सामना करते हुए 94 रन की शानदार पारी खेली। इस इनिंग में उन्होंने 11 चौके और 02 गगनचुंबी छक्के भी लगाए। भले ही इस पारी में धवन नर्वस नाइंटीज का शिकार हो गए हो, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने एक ऐसा काम कर दिया जो वो टेस्ट क्रिकेट में नहीं कर पाए थे।टेस्ट क्रिकेट में भारत की सरजमीं पर धवन का ये पहला अर्धशतक रहा। इससे पहले धवन ने सफेद कपड़ों की क्रिकेट में तीन अर्धशतक ठोके थे, लेकिन वो सभी विदेशी मैदानों पर आए थे और ये पहला मौका रहा जब धवन ने भारत में खेलते हुए टेस्ट क्रिकेट में अर्धशतक जमाया हो।  

इस वजह से खास रही धवन की पारी

कोलकाता में खेली गई धवन की ये पारी खास रही, क्योंकि जब धवन अपने साथी ओपनर राहुल के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे थे तो टीम इंडिया 122 रन पीछे थी, लेकिन गब्बर ने इस दबाव को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और पहले खुद को अच्छे से सेट किया और फिर श्रीलंका के गेंदबाज़ों की जमकर खबर ली। आलम ये था कि राहुल और धवन की जोड़ी ने बिना कोई विकेट गंवाए लंका की 122 रन की लीड तो उतारी ही साथ ही साथ लंका पर चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 49 रन की बढ़त भी बना ली। धवन और राहुल ने मिलकर 166 रन की साझेदारी की। 

7 साल बाद हुआ ऐसा

7 साल के बाद ऐसा हुआ है जब भारतीय ओपनर्स ने किसी भी टेस्ट की दूसरी पारी में शतकीय साझेदारी की हो। इससे पहले ऐसा द. अफ्रीका के खिलाफ 2010 में सेंचुरियन के मैदान पर हुआ था, जब भारत के ओपनिंग बल्लेबाज़ों ने टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 100 से ज़्यादा रन की पार्टनरशिप की थी। उस मुकाबले में गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग ने 137 रन की साझेदारी की थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस