नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। आइपीएल 2022 में चेन्नई सुपर किंग्स ने अपना आखिरी लीग मैच राजस्थान रायल्स के खिलाफ खेला। इस मैच में सीएसके टीम को 5 विकेट से हार मिली और एम एस धौनी की टीम का सफर इस सीजन में हार के साथ खत्म हुआ। इस सीजन में सीएसके टीम मैनेजमेंट को धौनी की जगह रवींद्र जडेजा का कप्तान बनाना महंगा पड़ गया और उनके कप्तान रहते टीम को शुरुआत आठ मैचों में ही छह में हार मिली और जब तक धौनी कप्तान बनते तब तक खेल बिगड़ चुका था। इसके अलावा टीम के कुछ स्टार खिलाड़ियों का चोटिल होना भी इस टीम के हक में नहीं रहा तो वहीं ये टीम अपनी बेहतरीन प्लेइंग इलेवन की खोज करती ही रह गई। 

सीएसके के पहली बार किसी सीजन में 10 मैचों में मिली हार

चेन्नई सुपर किंग्स ने आइपीएल 2021 का खिताब बड़े शान के साथ अपने नाम किया था, लेकिन 2022 में ये टीम चैंपियन जैसी तो बिल्कुल भी नजर नहीं आई। जडेजा के कप्तान बनने के बाद टीम के खराब प्रदर्शन की जो शुरुआत हुई थी वो धौनी के कप्तान बनने के बाद भी नहीं रुकी और इस टीम को 14 लीग मैचों में से 10 मुकाबले गंवाने पड़े। आइपीइल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब सीएसके टीम को किसी सीजन में 10 मैचों में हार का सामना करना पड़ा। यही नहीं आइपीएल इतिहास में ये दूसरा मौका था जब चेन्नई सुपर किंग्स प्लेआफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई। इससे पहले साल 2020 में भी सीएसके टीम प्लेआफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई थी।

आइपीएल 2022 में सीएसके ने अपने 14 लीग मैचों में से 4 में ही जीत दर्ज कर पाई और 10 मैचों में उसे हार मिली। इनमें से 8 मैचों में शुरुआत में रवींद्र जडेजा की कप्तानी में इस टीम को 6 मैचों में हार मिली जबकि 2 मैचों में जीत मिली थी। इसके बाद एम एस दौनी ने 6 मैचों में टीम की कप्तानी की जिसमें से वो अपनी टीम को 2 मैचों में जीत दिलवा पाए जबकि 4 मैचों में हार का सामना करना पड़ा।  

Edited By: Sanjay Savern