नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन से चेन्नई सुपर किंग्स की टीम अब आधिकारिक तौर पर बाहर हो गई है। रविवार (25 अक्टूबर) को मुंबई इंडियंस के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स को मिली 8 विकेट की जीत के बाद चेन्नई के प्लेऑफ खेलने का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया। रविवार को ही खेले गए पहले मुकाबले में चेन्नई ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को मात देकर जताया कि वो बाकी टीमों का खेल बिगाड़ सकती है।

बैंगलोर के खिलाफ चेन्नई की टीम ने 8 विकेट की दमदार जीत हासिल की। पहले बल्लेबाजी करते हुए बैंगलोर ने 145 रन बनाए थे। 18.4 गेंद पर चेन्नई ने महज 2 विकेट खोकर इस लक्ष्य को हासिल किया। रितुराज गायकवाड़ ने अर्धशतकीय पारी खेली जबकि सैम कुर्रन और दीपक चाहर ने मिलकर 5 विकेट चटकाए। टीम के इस प्रदर्श की वजह से अब यह साफ हो गया है वो बाकी के बचे दो मुकाबलों में अपना सबकुछ झोंक देगी।

कोलकाता और पंजाब का बिगाड़ सकती है खेल

चेन्नई की टीम ने 12 मैच खेलकर चार मैच जीता है और टूर्नामेंट में उसके बस दो मैच ही बचे हैं। इसमें से एक कोलकाता नाइटराइडर्स और दूसरा किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ है। यह दोनों ही टीम प्लेऑफ की दौड़ में बनी हुई है और उसके लिए हर मैच करो या मरो का है। अगर चेन्नई ने इन दोनों टीमों को हरा दिया तो इनका समीकरण जरूर बिगड़ सकता है।

कोलकाता इस वक्त 11 मैच से 6 जीत के बाद 12 अंक लेकर चौथे स्थान पर है। पंजाब के पास 11 मैचों से 5 जीत के बाद कुल 10 अंक हैं। मुंबई के खिलाफ मिली रविवार की जीत के बाद राजस्थान के पास 12 मुकाबलों के बाद 5 जीत से 10 अंक हो गए हैं। हैदराबाद की टीम के पास 4 जीत से 8 अंक हैं। चेन्नई के पास 8 अंक हैं और अगले दो मैच जीतने के बाद भी उसके पास 12 अंक ही होंगे जो किसी भी तरह से चौथे स्थान पर रहने वाली टीम से कम ही होंगे।

 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस