नई दिल्ली, जेएनएन। वनडे और टी20 प्रारूप में गेंदबाजी का जलवा दिखाने के बाद भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को टेस्ट खेलने का मौका भी मिल ही गया। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण का मौका मिला। भारत की तरफ से अपने टेस्ट करियर का दक्षिण अफ्रीका में शुरुआत करने वाले वो तीसरे तेज गेंदबाज बन गए। 

जसप्रीत ने किया टेस्ट में पदार्पण

भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को केपटाउन में अपना पहला टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला। भारत के लिए 31 वनडे और 32 टी20 मैच खेलने के बाद उन्हें ये मुकाम हासिल हुआ। दक्षिण अफ्रीका की धरती पर वो भारत की तरफ से अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले तीसरे तेज गेंदबाज बन गए। उनसे पहले डोडा गणेश ने केपटाउन में वर्ष 1997 में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। उस मैच में गणेश ने 33.5 ओवर में 131 रन देकर एक विकेट लिए थे। इस दौरान उन्होंने 9 मेडन ओवर भी फेंके थे। भारत की तरफ से द. अफ्रीका में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले दूसरे तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट थे। सेंचुरियन में वर्ष 2010 में उन्हें ये मौका मिला था। उस मैच में उन्होंने 26 ओवर में 101 रन दिए थे। उन्हें कोई विकेट नहीं मिला था और उन्होंने कुल 4 मेडन ओवर भी फेंके थे। 

जसप्रीत बुमराह का क्रिकेट करियर

अहमदाबाद के 24 वर्षीय दाएं हाथ के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने काफी कम समय में भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की की है। वो अब तक भारत के लिए सिमित ओवर के प्रारूप में खेल रहे थे और उनका प्रदर्शन लाजबाव रहा है। उनके द्वारा लगातार किए गए शानदार प्रदर्शन के दम पर ही उन्हें टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला। केपटाउन टेस्ट में उन्हें ईशांत और उमेश पर तरजीह देते हुए अंतिम ग्यारह में मौका मिला। अब उन्हें टेस्ट में खुद को साबित करना है। बुमराह के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की बात करें तो वनडे में उन्होंने अब तक खेले अपने 31 मैचों में 56 विकेट लिए हैं और 27 रन देकर 5 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है। वहीं 32 टी20 मैचों में उनके नाम पर 40 विकेट हैं और 11 रन देकर 3 विकेट उनका बेस्ट प्रदर्शन है। 

बुमराह के लिए बड़ी चुनौती

भारतीय टीम के पास इस वक्त तेज गेंदबाजों की कोई कमी नहीं है। इस वक्त टीम में बुमराह के अलावा मुख्य तेज गेंदबाज के तौर पर ही भुवी, ईशांत, उमेश और मो. शमी हैं। इनके अलावा भी कुछ और नए तेज गेंदबाज हैं जो टीम में आने का रास्ता तलाश रहे हैं। ऐसे में बुमराह के लिए टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव जरूर रहेगा क्योंकि उनकी एक चूक उन्हें टेस्ट टीम से दूर कर सकती है।  

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप