नई दिल्ली, संजय सावर्ण। चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के तीसरे लीग मुकाबले में भारतीय गेंदबाजों ने ओवल पर अपना जलवा दिखाया। टीम इंडिया के गेंदबाजों के तूफान में द. अफ्रीकी बल्लेबाज पूरी तरह से उड़ गए और 200 का आंकड़ा भी नहीं छू पाए। 

फॉर्म में लौटे भारतीय गेंदबाज

श्रीलंका के खिलाफ मिली हार के बाद भारतीय गेंदबाजों पर सबने उंगली उठाई क्योंकि वो 321 रन पर भी टीम को हार से नहीं बचा पाए थे लेकिन उस हार से सबक लेते हुए हमारे गेंदबाज ने क्या कमाल की वापसी की और वो भी दुनिया की नंबर एक वनडे टीम के खिलाफ। भारतीय गेंदबाजों ने द. अफ्रीका के बल्लेबाजों को 200 रन का आंकड़ा भी नहीं छूने दिया और विरोधी टीम 191 रन पर ऑल आउट हो गई। कमाल की बात तो ये रही कि इस मैच में बोलबाला तेज गेंदबाजों का ही रहा। वैसे अश्विन और जडेजा का प्रदर्शन भी तारीफ के काबिल रहा खास तौर पर जडेजा जो सबके निशाने पर थे पर उन्होंने ना सिर्फ किफायती गेंदबाजी की बल्कि एक विकेट भी लिए। भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर, बुमराह और हार्दिक पांड्या ने मिलकर कुल 5 जबकि जडेजा और अश्विन ने कुल दो विकेट लिए। तीन बल्लेबाज रन आउट हुए। 

द. अफ्रीका ने महज 51 रन पर गवांए 8 विकेट

भारत के खिलाफ द. अफ्रीका की शुरुआत अच्छी थी और उनका स्कोर 140 रन पर दो विकेट था लेकिन इसके बाद अफ्रीकी टीम एकदम से बिखर गई। 140 से लेकर 191 तक के भीतर यानी महज 51 रनों पर दुनिया की नंबर एक वनडे टीम के 8 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए।

तीन बल्लेबाज रन आउट हुए

इस मैच से पहले भारतीय फील्डरों पर सवाल उठ रहे थे लेकिन इस बार टीम इंडिया की फील्डिंग में गजब का सुधार दिखा। द. अफ्रीकी टीम के तीन बल्लेबाज रन आउट हुए। रन आउट होने वाले खिलाड़ियों में एबी डीविलियर्स, डेविड मिलर और इमरान ताहिर शामिल थे। वैसे इस पूरे टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने अब तक खेले अपने तीन मैचों में कुल छह खिलाड़ियों को रन आउट किया है जो सबसे ज्यादा है। भारत के अलावा और किसी भी टीम ने दो खिलाड़ियों से ज्यादा को रन आउट करने में सफलता नहीं पाई। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Mohit Tanwar