नई दिल्ली, संजय सावर्ण श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम पूरी तरह से तैयार है। पहला टेस्ट मैच कोलकाता में खेला जाना है और इस टेस्ट मैच में खेल प्रेमियों का ध्यान भारतीय टीम के अंतिम ग्यारह पर रहने वाला है। पहले दो टेस्ट मैच के लिए टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को आराम दिया गया है तो क्या पांड्या के टीम में नहीं रहने से भारतीय टीम को कोई नुकसान पहुंच सकता है ?

शायद विराट की है ये सोच

भारतीय टीम इस वर्ष जब श्रीलंका दौरे पर गई थी तब मेहमान टीम ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से जीत हासिल की थी। एक बार फिर से विराट की टीम टेस्ट सीरीज के लिए उसी टीम के सामने है। हालांकि श्रीलंका ने पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2-0 से जीत हासिल की थी लेकिन उस टीम में कोई बहुत ज्यादा बदलाव नहीं है तो शायद विराट को अपने खिलाड़ियों पर पूरा भरोसा है और इसी वजह से उन्हें फिलहाल हार्दिक पांड्या के टीम में नहीं होने से कोई ज्यादा फर्क महसूस नहीं हो रहा। 

ये निभा सकते हैं ऑलराउंडर की भूमिका

भारतीय टेस्ट टीम में इस वक्त ऑलराउंडर की बात करें तो सबसे पहले दो नाम जेहन में आते हैं और वो हैं आर. अश्विन व रवींद्र जडेजा। आर. अश्विन को जब श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद आराम दिया गया तो वो इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलने रवाना हो गए और वहां पर उन्होंने ना सिर्फ अच्छी गेंदबाजी की बल्कि अपने बल्ले से भी प्रभावित किया। इसके अलावा रवींद्र जडेजा ने घरेलू मैचों में अपने बल्ले का जौहर दिखाते हुए एक दोहरा शतक लगाया साथ ही टेस्ट मैचों में गेंदबाजी के मामले में वो उस्ताद हैं। यानी इन दोनों खिलाड़ियों में ऑलराउंड प्रदर्शन करने की क्षमता है जिसकी वजह से विराट को कोई चिंता नहीं होगी। 

यहां पर फंस सकती है भारतीय टीम

हार्दिक पांड्या के टीम में नहीं होने से भारतीय टीम तीन तेज गेंदबाज और दो स्पिनर के साथ शायद पहले टेस्ट में उतरे। अगर ऐसा होता है तो टीम में सिर्फ छह शुद्ध बल्लेबाज होंगे। हालांकि अश्विन और जडेजा बल्लेबाजी कर सकते हैं लेकिन उन पर एक शुद्ध बल्लेबाज की तरह भरोसा नहीं किया जा सकता। इसके अलावा टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा को बल्लेबाजी में अभी काफी कुछ साबित करना है। इसके बाद अब बचते हैं शुरू के पांच बल्लेबाज यानी साफ तौर पर बल्लेबाजी की पूरी जिम्मेदारी इन पर ही रहने वाली है। ऐसे में अगर किसी मैच में ये बल्लेबाज पारी को नहीं संभाल पाए तो निचले बल्लेबाजों पर कितना भरोसा किया जा सकता है। यहां पर शायद टीम को हार्दिक की कमी खल सकती है। वैसे इस तरह की स्थिति आ ही जाए इसके बारे में कुछ साफ तौर तो नहीं कहा जा सकता। 

कोलकाता में बाउंसी पिच, क्या हो सकता है गेंदबाजी कांबिनेशन

भारत को जनवरी में द. अफ्रीका दौरे पर जाना है। इस दौरे को देखते हुए भारतीय टीम अपनी तैयारी के मद्देनजर बाउंसी पिचों पर खेलना चाहती है। शायद इस बात को ध्यान में रखते हुए कोलकाता पिच को बाउंसी बनाया गया है। ऐसी परिस्थिति में शायद भारतीय टीम चार तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरे। यहां पर स्पिनर के लिहाज से सिर्फ एक जगह खाली है और अश्विन, जडेजा या कुलदीप में किसे मौका मिलता है ये देखना दिलचस्प होगा। यहां पर टीम को हार्दिक की कमी खल सकती है क्योंकि अगर वो टीम में होते तो टीम के पास अन्य विकल्प खुले होते। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप