नई दिल्ली, जेएनएन। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट मैच में भारतीय टीम की हार ने उसे सीरीज में 0-1 से पीछे कर दिया। अब सेंचुरियन टेस्ट में भारतीय टीम वापसी की कोशिश जरूर करेगी और इसके लिए क्या टीम में कुछ बदलाव जरूरी हैं या फिर उसी अंतिम ग्यारह के साथ विराट को मैदान पर उतरना चाहिए। पहले टेस्ट मैच में कुछ खिलाड़ियों के चुनाव पर सवाल उठे थे तो क्या टीम मैनेंजमेंट उन खिलाड़ियों की जगह किसी दूसरे खिलाड़ी को आजमाएगी। 

लोकेश राहुल को मौका

पहले टेस्ट मैच में दोनों भारतीय ओपनर बल्लेबाजों का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था। दोनों के बीच मैच की दोनों पारियों में कोई बड़ी साझेदारी नहीं हुई। अब ये कहा जा रहा है कि लोकेश राहुल को सेंचुरियन टेस्ट में आजमाया जा सकता है पर सवाल ये है कि अगर वो टीम में आते हैं तो किसे बाहर किया जाएगा। मुरली को या फिर धवन को। वैसे भारतीय टीम के पास पार्थिव पटेल के तौर पर दूसरा विकल्प भी है लेकिन ओपनर के तौर पर टेस्ट में उन्हें आजमाया जाए इसकी संभावना जरा कम नजर आती है। 

दूसरे टेस्ट में रोहित या रहाणे

पहले टेस्ट मैच के बाद रोहित या रहाणे के अंतिम ग्यारह में होने को लेकर बड़ी बहस छिड़ी है। विराट ने रोहित की मौजूदा फॉर्म को देखते हुए उन्हें टीम में मौका दिया लेकिन वो कुछ खास नहीं कर पाए ऐसे में क्या विराट रहाणे पर दांव लगाएंगे। वैसे रहाणे का विदेशी धरती पर टेस्ट में कमाल का औसत रहा है और रोहित का विदेशी धरती पर टेस्ट में औसत कुछ खास नहीं है। हालांकि रोहित का मौजूदा फॉर्म रहाणे को पीछे जरूर छोड़ता है लेकिन मैच जीतने के लिए टीम को इन दोनों खिलाड़ियों को लेकर सोचने की जरूरत है। 

जसप्रीत को मौका मिलेगा या नहीं

पिछले टेस्ट मैच में भारतीय टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज ईशांत और उमेश को बैठाकर जसप्रीत बुमराह को मौका दिया गया। हालांकि उनकी गेंदबाजी भी ठीक-ठाक रही लेकिन उनके अंतिम ग्यारह में चयन पर भी सवाल उठे। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि जसप्रीत टीम में बने रहते हैं या उनकी जगह अनुभव को तरजीह दी जाती है। वैसे भी ईशांत की तबीयत ठीक नहीं है ऐसे में भारत पांड्या के अलावा तीन तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरता है या फिर चार तेज गेंदबाजों के साथ विराट मैदान पर उतरना पसंद करेंगे। 

क्या टीम को अश्विन की जरूरत पड़ेगी

पहले टेस्ट में टीम में अश्विन को शामिल किया गया लेकिन उन्हें ज्यादा गेंदबाजी का मौका नहीं मिल पाया। पहली पारी में उन्होंने 7.1 ओवर गेंदबाजी की जिसमें उन्होंने 2 विकेट लिए। दूसरी पारी में उन्हें सिर्फ एक ओवर गेंदबाजी का मौका मिला। वैसे पहले टेस्ट मेें कहीं से ये लगा भी नहीं कि टीम को स्पिनर की जरूरत है। अब सेंचुरियन टेस्ट में भी शायद हालात वैसे ही हों ऐसे में अश्विन को या फिर स्पिनर के साथ विराट मैदान पर उतरेंगे या नहीं ये एक बड़ा फैसला होगा। वैसे भी अश्विन के टीम में नहीं होने से विराट के पास टीम में एक शुद्ध बल्लेबाज या गेंदबाज के साथ मैदान पर उतरने का विकल्प होगा। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप