नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली हैदराबाद टी20 में अलग ही अंदाज में नजर आए। बल्लेबाजी के दौरान विराट कोहली शायद ही पिछले कुछ सालों में इतने आक्रामक नजर आए हैं। कोहली ने राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम पर महज 50 गेंद पर 94 रन की तूफानी पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई। मैच खत्म करने के बाद विराट ने अपनी पीठ ठोकी और हवा में बल्ले उठाकर शतक मानने के बाद वाला जश्न भी मनाया।

हैदराबाद में शुक्रवार की रात विराट कोहली के बल्ले से एक ऐसी तूफानी पारी देखने को मिली जिसने टीम इंडिया को टी20 इतिहास की सबसे बड़ी जीत दिलाई। वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 5 विकेट के नुकसान पर 207 रन का स्कोर खड़ा किया था। टीम इंडिया ने कप्तान कोहली की आतिशी 94 रन की पारी के दम पर महज 18.4 ओवर में अब तक के अपने सबसे बड़ लक्ष्य का पीछा करते हुए 6 विकेट से जीत हासिल की।

विराट ने जीत के बाद ठोकी अपनी पीठ

टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने इस मैच में बेहद आक्रामक पारी खेली और टीम को जीत के दरवाजे तक पहुंचाया। कोहली ने 50 गेंद का सामना करते हुए 94 रन की तेज तर्रार पारी खेली। इस पारी के दौरान कोहली ने 6 चौके लगाए जबकि 6 आसमानी छक्के भी उनके बल्ले से निकले।

कोहली ने छक्के लगाकर भारतीय टीम को जीत दिलाई और इसके बाद अपनी खुद की पीठ ठोकी। उन्होंने अपनी जर्सी के 18 नंबर को दिखाया और फिर खुदको ही पीठ ठोककर शाबासी दी।

कोहली ने 94 रन बनाकर मनाया शतक का जश्न

वैसे तो इस पारी में कोहली के पास शतक बनाने का मौका नहीं था लेकिन उन्होंने ताबड़तोड़ शॉट्स लगाकर 94 रन बना डाले। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 11 रन करी जरूरत थी और कोहली 78 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे। शतक के लिए कोहली को जरूरत थी 22 रन की जबकि भारत को सिर्फ 11 रन ही चाहिए थे। कोहली ने ओवर में दो छक्के और दो मर्तबा दो रन लेकर कुल 16 रन बनाए। वह नाबाद 94 रन बनाकर वापस लौटे लेकिन मैच खत्म होने पर उन्होंने हवा में वैसे ही बल्ला लहराया जैसे वो शतक पूरा करने के बाद लहराते हैं।

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस