नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम में चल रहे तीसरे टेस्ट के पहले दिन एक बार फिर भारतीय कप्तान विराट कोहली के बल्ले का जलवा देखने को मिला। हालांकि इस दौरान वह शतक से चूक गए और 97 रन बनाकर आदिल रशीद का शिकार बन गए। अगर कोहली केवल 3 रन और बना लेते तो वह अपना 23वां टेस्ट शतक पूरा कर लेते लेकिन शायद किस्मत उनके साथ नहीं थी। इस पारी में विराट ने 11 चौके लगाए।

विराट ने पहले टेस्ट की पहली पारी में 149 रन की पारी खेली थी। इंग्लैंड के खिलाफ कोहली ने टेस्ट में 4 शतक और 3 अर्धशतक लगाए हैं। इंग्लैंड के खिलाफ उनका बेस्ट स्कोर 235 रन है। वहीं इंग्लैंड की धरती पर यह उनका दूसरा 50 से ज्यादा का स्कोर है। 

विराट ने एक बार फिर मुश्किल हालात में शानदार पारी खेल भारत को ना केवल मुश्किल से निकाला बल्कि एक मजबूत स्कोर की नींव भी रखी। इस पारी के दौरान विराट ने अजिंक्य रहाणे के साथ 159 रन की साझेदारी की। कोहली के अलावा रहाणे ने भी 81 रन की पारी खेली।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया को ओपनर शिखर धवन और केएल राहुल ने अच्छी शुरुआत दिलाई। इन दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की। हालांकि अच्छी शुरुआत के बाद एक बार फिर पिछले मैचों की तरह भारत की पारी लड़खड़ा गई। 60 रन के स्कोर पर शिखर आउट हुए, उन्होंने 35 रन की पारी खेली।

धवन के आउट होने के बाद केएल राहुल भी ज्यादा देर टिक नहीं पाए और 65 रन के स्कोर पर 23 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद खराब फॉर्म से जूझ रहे चेतेश्वर पुजारा भी जल्दी ही आउट हो गए और 14 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। भारत के पहले तीन विकेट तेज गेंदबाज क्रिस वोक्स ने लिए।

इससे पहले विराट का इंग्लैंड में रिकॉर्ड बेहद खराब था। साल 2014 में जब वह इंग्लैंड दौरे पर गए थे तो 5 टेस्ट में केवल 134 रन ही बना पाए थे, वह भी 13.40 की घटिया औसत से। इस सीरीज के बाद तो टीम में उनकी जगह पर भी सवाल उठने लग गए थे लेकिन विराट ने इसके बाद जमकर मेहनत की और आज विश्व क्रिकेट में विराट का ओहदा क्या है ये हम सभी जानते हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Lakshya Sharma