नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच हारकर भारत को सीरीज गंवानी पड़ी। भारत भले ही मैच और सीरीज हार गया हो लेकिन कप्तान कोहली ने एक और विराट पारी खेल भारत जीत दिलाने की पूरी कोशिश की। विराट ने चौथे टेस्ट की दूसरी पारी में 130 गेंद पर 58 रन की पारी खेली। इस पारी की बदौलत वह भारत को जीत तो नहीं दिला पाए लेकिन उन्होंने कई रिकॉर्ड्स अपने नाम कर लिए।

इस पारी के दौरान विराट ने कप्तान के तौर पर अपने 4000 टेस्ट रन पूरे कर लिए हैं। विराट ने ये कारनामा 39 टेस्ट की 65 पारियों में किया। इससे पहले कप्तान के तौर पर सबसे तेज 4 हजार रन का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा के नाम था। लारा ने ये कारनामा 71 पारियों में किया था, वहीं रिकी पोंटिंग 75, ग्रेग चैपल 80, एलन बॉर्डर 83 और एलिस्टर कुक ने 90 पारियों में इस आंकड़ें को छुआ था।

विराट कोहली कप्तान के तौर पर 4000 रन बनाने वाले भारत के पहले कप्तान है। विराट ने कप्तान के तौर पर 66.66 की औसत से रन बनाए हैं, इस दौरान उन्होंने 16 शतक भी जड़े हैं। विराट साल 2014 की निराशा को पीछे छोड़ मौजूदा इंग्लैंड दौरे पर 544 रन बना चुके हैं। इंग्लैंड के खिलाफ उसके घरेलू जमीन पर ऐसा करने वाले वह ना केवल भारत के बल्कि पहले एशियाइ कप्तान है। 

वैसे विराट का बल्ला साल 2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी आग उगल चुका है। उस दौरे पर विराट ने 692 रन ठोके थे। लेकिन उस दौरे पर उन्होंने सभी टेस्ट में कप्तानी नहीं की थी। विराट भारत के पहले कप्तान है जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू और उसके घर में भी एक सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाए हैं। इसके अलावा इंग्लैंड में एक सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाने वाले वह तीसरे भारतीय बल्लेबाज है।  उनसे पहले राहुल द्रविड़ ने 2002 में और सुनील गावस्कर ने 1979 में ये कारनामा किया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Lakshya Sharma