नई दिल्ली, जेएनएन। ICC world cup 2018 कहते हैं अगर किस्मत मेहरबान हो तो कुछ भी हो सकता है। हालांकि इसमें मेहनत की बात को नकारा नहीं जा सकता क्योंकि अक्सर मेहनत करने वाले लोग अपनी किस्मत बदल देते हैं और शायद कुछ ऐसा ही हुआ है टीम इंडिया के ऑलराउंडर विजय शंकर के साथ। विजय शंकर ने अपने छोटे से वनडे करियर में काफी प्रभावित किया है और उनका विश्व कप टीम में शामिल किया जाना लगभग तय माना जा रहा था, लेकिन इतने छोटे से वनडे करियर में किसी खिलाड़ी को विश्व कप टीम में जगह मिल जाए तो उसके लिए इससे अच्छी बात शायद ही और कुछ हो सकती है। 

तीन महीने का वनडे करियर और सिर्फ नौ मैच

विजय शंकर ने शायद ही कभी सोचा हो कि सिर्फ नौ वनडे मैच खेलकर वो इंग्लैंड में जाने वाली भारतीय विश्व कप टीम का हिस्सा बन सकते हैं लेकिन ऐसा हुआ। शंकर को विश्व कप टीम में ऑलराउंडर के तौर पर शामिल किया गया है जो बल्लेबाजी के साथ-साथ टीम को तेज गेंदबाजी का विकल्प देंगे। विजय शंकर के लिए सबसे अच्छी बात ये है कि पिछले कुछ मैचों में उन्हें नंबर चार पर बल्लेबाजी का मौका दिया गया था और उन्होंने खुद को साबित भी किया था। महज कुछ मैचों में कप्तान, टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं का दिल जीतना कोई विजय शंकर से सीखे और उन्होंने ऐसा कर दिखाया। विजय शंकर ने अपने वनडे करियर का आगाज इस वर्ष 18 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में किया था। इस मैच में उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला था।  

नौ मैचों का वनडे करियर

विजय शंकर ने पिछले चार महीनों में अपने वनडे करियर में सिर्फ नौ मैच खेले हैं और इसमें से भी उन्हें चार मैचों में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला था। तीन फरवरी को उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन में पहले वनडे मैच में बल्लेबाजी का मौका मिला और उन्होंने 45 रन की पारी खेली। जिन पांच मैचों में शंकर ने बल्लेबाजी की उसमें उन्होंने 45,46,32,26 और 16 रन की पारी खेली थी। शंकर ने नौ मैचों में दो विकेट लिए हैं। नौ मैचों में विजय ने 33.00 की औसत से कुल 165 रन बनाए हैं और उनका बेस्ट स्कोर 46 रन है। 

कौन हैं विजय शंकर

28 वर्ष के विजय शंकर तमिलनाडू के ऑलराउंडर हैं। वो दाएं हाथ के बल्लेबाज व दाएं हाथ के मध्यम गति के तेज गेंदबाज हैं। शंकर मध्यक्रम में अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं उन्होंने 41 फर्स्ट क्लास मैचों में 47.70 की औसत से 2999 रन बनाए हैं और उनका बेस्ट स्कोर 111 रन रहा है। उनके नाम पर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 32 विकेट हैं और उनका बेस्ट प्रदर्शन 52 रन देकर चार विकेट रहा है। लिस्ट ए मैचों में शंकर ने नाम पर 67 मैचों में 1613 रन हैं और बेस्ट स्कोर 129 रन है। लिस्ट ए मैचों में उनके नाम पर कुल 45 विकेट हैं।

Posted By: Sanjay Savern