नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंग्लैंड क्रिकेट टीम को साल 2019 में वनडे वर्ल्ड कप खिताब दिलाने वाले कप्तान इयोन मोर्गन ने तत्काल प्रभाव से इंटरनेशनल क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा कर दी। मोर्गन ने इंग्लैंड के लिए इस महीने की शुरुआत में नीदरलैंड के खिलाफ मैच खेला था जिसमें वो लगातार दो मैचों में डक पर आउट हुए थे। आयरिश मूल के इस क्रिकेटर को तीसरे वनडे से पहले फिटनेस की समस्या थी और फिर अपनी कमर की चोट का हवाला देते हुए वो इस सीरीज से हट गए थे। भारत के खिलाफ इंग्लैेंड को अभी एक टेस्ट के अलावा तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेलनी है, लेकिन इससे पहले ही मोर्गन ने संन्यास ले लिया। 

बतौर कप्तान मोर्गन का प्रदर्शन

इयोन मोर्गन ने बतौर वनडे कप्तान इंग्लैंड के लिए 126 मैच खेले जिसमें से इंग्लिश टीम को 77 मैचों में जीत मिली जबकि 40 मैचों में टीम को हार मिली। वहीं एक मैच टाई रहा और 8 मैचों का कोई रिजल्ट नहीं निकला। वहीं बतौर कप्तान उन्होंने वनडे की 115 पारियों में 9 शतक और 29 अर्धशतक के दम पर 4403 रन बनाए थे। उन्होंने इंग्लैंड के लिए 72 टी20 इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी की जिसमें से टीम को 44 में जीत और 47 मैचों में हार मिली। उन्होंने 65 पारियों में टीम के लिए कुल 1010 रन बनाए थे।

इंग्लैंड को बनाया चैंपियन

मोर्गन को साल 2014 में इंग्लैंड क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया था और साल 2015 में इस टीम का प्रदर्शन वनडे वर्ल्ड कप में काफी बुरा रहा था। इसके बाद उन्होंने इंग्लैंड क्रिकेट के तत्कालीन निदेशक एंड्रयू स्ट्रास और कोच ट्रेवर बेलिस के साथ मिलकर काम किया और तमाल आलोचनाओं का सामना करते हुए इंग्लैंड क्रिकेट टीम को बेहद मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया और इसका परिणाम 2019 में साफ तौर पर दिखा जब ये टीम वनडे वर्ल्ड कप चैंपियन बनी। मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम साल 2016 टी20 वर्ल्ड कप में उप-विजेता रही थी जबकि चैंपियंस ट्राफी 2017 और फिर टी20 वर्ल्ड कप 2021 के सेमीफाइनल तक पहुंची थी। 

मोर्गन का क्रिकेट करियर

मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम ने वनडे क्रिकेट में दो बड़ा स्कोर बनाने का रिकार्ड अपने नाम पर किया था। इस टीम ने साल 2018 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 6 विकेट पर 481 रन बनाए थे जबकि हाल ही में नीदरलैंड के खिलाफ 4 विकेट पर 498 रन बनाए थे। वहीं मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की बात करें तो उन्होंने 248 वनडे मैचों में 7701 रन जबकि 115 टी20 इंटरनेशनल मैचों में 2458 रन बनाए थे। हालांकि, उनके करियर को पिछले सात वर्षों में इंग्लैंड के सफेद गेंद वाले क्रिकेट को पूरी तरह से बदलने के लिए याद किया जाएगा। वैसे अब मोर्गन के बाद जोस बटलर या फिर मोइन अली में से किसे इंग्लैंड का वनडे व टी20 कप्तान बनाया जाएगा ये देखने वाली बात होगी। 

ईसीबी ने की पुष्टी

इयोन मोर्गन ने पिछले साल कथित तौर पर कहा था कि वो आस्ट्रेलिया में टी20 वर्ल्ड कप 2022 में खेलना चाहते हैं साथ ही भारत में 2023 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप का भी हिस्सा बनना चाहते हैं। हालांकि उनके हालिया फार्म को देखते हुए ऐसा माना जा रहा था कि वो सिमित ओवर की कप्तानी कर सकते हैं, लेकिन मंगलवार को उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया। ईसीबी ने भी एक प्रेस विज्ञप्ति के जरिए पुष्टी कर दी है कि मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट ले ली है।

Edited By: Sanjay Savern