नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। जिम्बाब्वे के दिग्गज बल्लेबाज ब्रैंडन टेलर ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। आयरलैंड के खिलाफ खेली जा रही वनडे सीरीज के तीसरे मुकाबले से पहले संन्यास की घोषणा कर चुके इस दिग्गज को टीम यादगार विदाई नहीं दे पाई। पहले बल्लेबाजी करते हुए पूरी टीम 34 ओवर में महज 131 रन पर आल आउट हो गई। टेलर अपनी आखिरी पारी में रन बनाने में नाकाम रहे जबकि कप्तान क्रेग इरविन ने 57 रन की पारी खेली।

बारिश से प्रभावित सीरीज के तीसरे मुकाबले के 38-38 ओवर का कर दिया गया। इस मैच में जिम्बाब्वे की बल्लेबाजी बुरी तरह से नाकाम रही और पूरी टीम निर्धारित 38 ओवर भी नहीं टिक पाई। कप्तान इरविन के अर्धशतक की बदौलत टीम किसी तरह से 138 के स्कोर तक पहुंच पाई। 8 बल्लेबाज दहाई के अंक तक भी पहुंच पाए।

आखिरी पारी में निराश लौटे टेलर

जिम्बाब्वे के सफलतम बल्लेबाजों में शामिल टेलर के नाम कई बल्लेबाजी रिकार्ड हैं लेकिन अपने आखिरी मुकाबला में वह महज 7 रन ही बना पाए। टास हारने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी जिम्बाब्वे के लिए पारी की शुरुआत करने उतरे टेलर अपनी आखिरी इंटरनेशनल पारी में 12 गेंद का सामना किया एक चौका लगाया लेकिन दहाई अंक में नहीं पहुंच पाए।

टेलर के नाम रिकार्ड

जिम्बाब्वे की तरफ से टेलर के नाम सबसे ज्यादा वनडे 11 शतक बनाने का रिकार्ड दर्ज है। वह बाकी सभी बल्लेबाजों को काफी आगे हैं। पूर्व कप्तान एलिस्टर कैम्पबेल ने 7 वनडे शतक बनाए थे। 2011 में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज में 310 रन बनाकर उन्होंने विश्व रिकार्ड बनाया था। साल 2013 तक तीन मैचों की द्वीपक्षीय सीरीज में न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल ने 330 रन बनाकर इसे तोड़ा था।

 

टेलर का शानदार इंटरनेशनल करियर

जिम्बाब्वे की तरफ से 205 वनडे मैच खेलकर टेलर ने 35.55 की औसत से कुल 6684 रन बनाए। उन्होंने इस दौरान 11 शतक जमाए और उनका सर्वश्रेष्ठ पारी नाबाद 145 रन की रही। वह एंडी फ्लावर (6786) के बाद जिम्बाब्वे की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। 34 टेस्ट मैच में टेलर ने 2320 रन बनाए जिसमें 6 शतक सामिल रहे, 171 रन की पारी उनके टेस्ट करियर की सबसे बड़ी पारी रही। 45 टी20 मैच खेलकर उन्होंने 6 अर्धशतक की मदद से 934 रन बनाए। अप्रैल 2004 में बुलावायो में टेलर ने वनडे करियर का आगाज किया था जबकि इसी साल मई में श्रीलंका के खिलाफ ही हरारे में टेलर ने टेस्ट डेब्यू किया था।

 

Edited By: Viplove Kumar