नई दिल्ली, जेएनएन। क्रिकेट के मैदान पर ऐसा कम ही देखने को मिलता है कि विकेटकीपर भी गेंदबाजी करे। चलिए अगर ये कभी-कभार देखने को मिल भी जाता है तो विकेटकीपर विकेट भी ले ले ऐसा संयोग तो कम ही बनता है। भारतीय क्रिकेट इतिहास की बात करें तो इसमें सिर्फ दो विकेटकीपर ऐसे हुए हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में विकेट लेने का कमाल किया है।

MS Dnohi ने वनडे क्रिकेट में एक विकेट लिए हैं तो टेस्ट में भारतीय विकेटकीपर के तौर पर सैयद किरवानी ने ये उपबल्धि हासिल की है। धौनी और सैयद किरवानी के अलावा भारत के अन्य किसी विकेटकीपर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में विकेट लेने का कमाल कभी नहीं किया। 

वनडे में धौनी के नाम पर है एक विकेट

भारतीय विकेटकीपर के तौर पर धौनी ने इंटरनेशनल वनडे क्रिकेट में विकेट लेने का कमाल सिर्फ एक ही बार किया था और वो इस उपलब्धि का हासिल करने वाले फिलहाल इकलौते खिलाड़ी हैं। धौनी ने अपने वनडे करियर में अब तक 350 वनडे मैच खेल चुके हैं और उन्होंने इस दौरान कुछ मौकों पर गेंदबाजी भी की और एक विकेट भी लेने में सफल रहे। विकेटकीपर के तौर पर गेंदबाजी करते हुए वनडे में विकेट लेने वाले वो भारत के एकमात्र खिलाड़ी हैं। 

धौनी ने अपने वनडे करियर में कुल छह ओवर गेंदबाजी कर चुके हैं जिसमें उन्होंने 31 रन देकर एक विकेट हासिल किया है। उनका बेस्ट प्रदर्शन 14 रन देकर एक विकेट रहा है। धौनी ने 30 सितंबर 2009 को वेस्टइंडीज के खिलाफ जोहानसबर्ग में विकेट लिया था। उन्होंने दो ओवर में 14 रन देकर एक विकेट लिए थे। उन्होंने 20 जून 2013 को श्रीलंका के खिलाफ कार्डिफ में चार ओवर गेंदबाजी की थी और 17 रन दिए थे। इस मैच में उन्हें कोई सफलता नहीं मिली थी। 

टेस्ट में विकेटकीपर के तौर पर किरवानी विकेट लेने वाले इकलौते गेंदबाज

भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में विकेटकीपर के तौर पर गेंदबाजी करते हुए एक विकेट लेने का कमाल सैयद किरवानी कर चुके हैं। किरवानी ने अपने टेस्ट करियर में 3.1 ओवर गेंदबाजी की थी और 13 रन देते हुए एक विकेट लिए थे। किरवानी ने ये कमाल पाकिस्तान के खिलाफ नागपुर में किया था और 2 ओवर में 9 रन देकर एक विकेट लिए थे। उन्होंने भारत के लिए अपने करियर में कुल 88 टेस्ट मैच खेले थे। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस