नई दिल्ली, जेएनएन। कोहली एंड कंपनी को लॉर्ड्स टेस्ट में पारी और 159 रन की बड़ी हार का सामना करना पड़ा। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने पांच टेस्ट की सीरीज़ में 2-0 की बढ़त बना ली है। क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पर भारत को इस सदी में पहली बार पारी से हार का सामना करना पड़ा है।

लॉर्ड्स में 44 साल बाद पारी से हारा भारत

बारिश के कारण मैच के पहले दिन का खेल पूरी तरह से से धुल गया था। दूसरे दिन का खेल भी बारिश से बुरी तरह प्रभावित रहा। मैच में भारतीय बल्लेेबाजों ने बेहद शर्मनाक प्रदर्शन किया। पहली पारी में टीम इंडिया 107 और दूसरी पारी में 130 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। भारतीय बल्लेबाज़ इस मैच की किसी भी पारी में 50 ओवर तक भी बल्लेबाज़ी नहीं कर सके। भारत की पहली पारी 35.2 ओवर में सिमट गई तो दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाज़ 47 ओवर ही टिक सके और टीम इंडिया को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर 44 साल के बाद पारी की हार झेलनी पड़ी। आपको बता दें कि इससे पहले क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान में भारत सन 1974 में पारी के अंतर से मैच हारी थी और उसके बाद ये पहला मौका है जब टीम इंडिया को इस मैदान पर पारी के अंतर से शिकस्त झेलनी पड़ी है।

लॉर्ड्स में 1974 में मिली सबसे बड़ी हार

इस ऐतिहासिक मैदान पर भारतीय टीम को तीन बार पारी के अंतर से हार का सामना करना पड़ा है। सबसे  पहली बार टीम इंडिया लॉर्ड्स में सन1967 में पारी और 124 रन से हारी थी। इसके बाद सन 1974 में भारत को लॉर्ड्स में अपनी सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। उस मैच में इंग्लैंड ने पारी और 285 रन से भारत को धूल चटाई थी। इसके बाद अब 2018 में भारत को तीसरी बार लॉर्ड्स में पारी और 159 रन से शिकस्त झेसनी पड़ी।

  

ऐसा रहा है लॉर्ड्स में भारत का रिकॉर्ड

लॉर्ड्स में मैदान पर भारत और इंग्लैंड के बीच 18 मुकाबले खेले गए हैं। इन 18 मैचों में से 12 बार भारत को हार का सामना करना पड़ा है। वहीं सिर्फ दो मैचों में ही भारतीय टीम जीत दर्ज़ करने में सफल रही थी। उसे जीत मिली है जबकि चार मैच ड्रॉ समाप्त हुए हैं। टीम इंडिया ने इस मैदान पर वर्ष 1986 और वर्ष 2014 में जीत हासिल की थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें   

Posted By: Pradeep Sehgal