नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम में कुलचा यानी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की दोस्ती काफी मशहूर है। मैदान के बाहर तो इनके चर्चे हैं हीं, साथ ही साथ वे मैदान के अंदर जो एक-साथ मिलकर गेंदबाजी करते हैं उससे विरोधी खेमों में हलचल मच जाती है। हालांकि, लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को कुलदीप यादव की एक बात पसंद नहीं आती, जिसके कारण वे उनसे नफरत करते हैं।

युजवेंद्र चहल ने क्रिकबज के शो में बात करते हुए कहा है, "2012 में, जब हम दोनों मुंबई इंडियंस की टीम में चुने गए थे, तभी से एक दूसरे को जानते हैं। आम तौर पर हम बेंच पर होते थे. लेकिन इसकी वजह से ही हम एक-दूसरे के करीब आए। हम एक दूसरे के साथ मस्ती करते थे, एक दूसरे को जानने की कोशिश करते थे। इसलिए, जब हमने भारत के लिए खेलना शुरु किया तब हमारे बीच कोई फेक बॉन्ड (झूठी दोस्ती) नहीं था, जिसे हम निभाने की कोशिश कर रहे थे। हम सात-आठ सालों से अच्छे दोस्त थे।"

लेगी यूजी चहल का कहना है कि उनका ब्रोमांस मैदान के बाहर और भीतर, दोनों ही जगहों पर काम आता है। चहल कहते हैं, "जब हम साथ में गेंदबाज़ी कर रहे होते हैं तब अक्सर हम गेम के पहले (और कभी-कभी गेम के दौरान) रणनीति बना लेते हैं। हम यह पता लगाते हैं कि हम में से कौन अधिक आक्रामक होगा, हम एक दूसरे को कैसे कॉम्प्लिमेंट करेंगे और हम बल्लेबाजों को कैसे आउट करेंगे।"

शायद यही वो बात है जो 'कुलचा' को सबसे दिलचस्प जोड़ी बनाती है। यहां यह बताने की जरूरत नहीं कि गेंदबाज़ों की यह जोड़ी भी कितनी सफल है। चहल अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं, "मैं कहना चाहूंगा कि हमारी रणनीति 90 फीसदी बार सफल रही है। जब हम साथ होते हैं तो इतना अच्छा काम करते हैं।" हालांकि, कुलदीप यादव के बारे में चहल को एक बात बिल्कुल पसंद नहीं है। चहल ने बताया, "वो अक्सर फोन पर होता है जो वाकई परेशान करता है। सच कहूं तो आपको उससे पूछना चाहिए कि आखिर वो इतनी ज्यादा बातें करता किससे है।"

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस