नई दिल्ली, पीटीआइ। वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया बुधवार को लंदन रवाना हो गई। इस बीच टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि भले ही विराट कोहली के पक्ष में शानदार आंकड़े हैं। लेकिन विराट कोहली अकेले वर्ल्ड कप नहीं जिता सकते। इसके लिए उनको टीम का साथ चाहिए होगा। सचिन तेंदुलकर का मानना है कि एक खिलाड़ी आप को एक मैच जिता सकता है लेकिन एक टीम आपको टूर्नामेंट जिताती है। 

टीम इंडिया के लिए 6 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट का हिस्सा रहे सचिन तेंदुलकर ने कहा, "कई बार आपको एक खिलाड़ी तो कई बार दो खिलाड़ी आपको मैच में जीत दिला देते हैं। लेकिन, इस तरह आप टूर्नामेंट नहीं जीत सकते। कहीं ना कहीं जाकर कोई बड़ा मैच हार जाओगे और बाहर हो जाओगे।" इसके साथ-साथ सचिन तेंदुलकर नंबर चार के स्लॉट के लिए भी परेशान हैं। 

टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले सचिन तेंदुलकर ने कहा, "मैं सोचता हीं कि हमारे पास बल्लेबाज हैं जो ये काम कर सकते हैं। लेकिन, नंबर चार आपको एडजस्ट करना होगा। नंबर चार ही नहीं, हमारे बल्लेबाज किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। अगर वे अपनी क्षमता के साथ खेलें। जो स्थिति को समझ जाएगा वो इस नंबर पर फिट साबित होगा।"

बल्लेबाजी के अनुकूल नियम, पिच और दो नई बॉल से सचिन तेंदुलकर सहमत नहीं हैं क्योंकि जब पुरानी गेंद से गेंदबाजों को स्विंग मिलनी शुरू होती है तो 25 ओवर बाद गेंदबाजों को नई गेंद थमा दी जाती है। सचिन ने इसी इंग्लैंड बनाम पाकिस्तान वनडे सीरीज का हवाला देते हुए कहा है कि हर मैच में 350 के आसपास रन बने हैं। ये रन भी 45 ओवर में बना लिए गए हैं। ऐसे में गेंदबाजों के पास कुछ नहीं है।  

सचिन तेंदुलकर के अनुसार, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी इंग्लैंड में बल्लेबाजों को परेशान करने वाली है। क्योंकि ये दोनों कलाई के स्पिनर हैं, जो अच्छा कर सकते हैं। भले ही ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों ने उन्हें समझ लिया हो। लेकिन उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं, सचिन तेंदुलकर को भी भरोसा ही कि युवा औैर अनुभवी तालमेल वाली टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीत सकती है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur