नई दिल्ली, जेएनएन। आइपीएल 2020 में सीएसके को एक बार फिर से हार मिली और दिल्ली कैपिटल्स ने एम एस धौनी की टीम को 5 विकेट से हरा दिया। ये इस टीम की छठी हार थी और 9 मैचों में सिर्फ तीन जीत के साथ ये टीम अंक तालिका में छठे स्थान पर है। सीएसके की स्थिति ठीक नहीं है और इस टीम को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए काफी मशक्कत करनी होगी। 

इस मैच में सीएसके का स्कोर खराब नहीं था और आखिरी ओवर में दिल्ली को जीत के लिए 17 रन बनाने थे और इस स्कोर को बचाया जा सकता था, लेकिन दिल्ली के बल्लेबाज अक्षर पटेल ने आखिरी ओवर में ऐसी बल्लेबाजी कर डाली कि सब अवाक रह गए। सीएसके की तरफ से आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने के लिए रवींद्र जडेजा आए थे और उनकी 5 गेंदों पर ही अक्षर ने 21 रन बनाकर टीम को जीत दिला दी। 

अब श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व क्रिकेट एक्टपर्ट कुमार संगकारा ने कहा कि सीएसके को फाइनल ओवर या फिर रवींद्र जडेजा की वजह से हार नहीं मिली। धौनी की टीम को कैच छोड़ने का खमियाजा मैच गंवाने के तौर पर भुगतना पड़ा। सीएसके ने शिखर धवन का कैच चार बार छोड़ा और उनके कैच को छोड़ने में दीपक चाहर, अंबाती रायुडू व खुद कप्तान धौनी भी शामिल रहे।  

संगकारा ने कहा कि धौनी ने आखिरी ओवर ड्वेन ब्रावो को देने की योजना बना रखी थी, लेकिन उनके इंजर्ड होने की वजह से उन्होंने ये जिम्मेदारी रवींद्र जडेजा को सौंपी। जडेजा ने उस हालात में सही गेंदबाजी नहीं की। उन्हें छोटी और बाहर की तरफ गेंद फेंकनी चाहिए थी और बल्लेबाज को फ्रंट फुट पर आने का मौका नहीं देना चाहिए था। हालांकि उन्होंने साफ कर दिया कि सीएसके की हार की वजह फिर भी जडेजा की गेंदबाजी नहीं बल्कि उनकी फील्डिंग रही। उन्होंने कहा कि, क्या आपने उनकी फील्डिंग देखी। आप उनके 20वें ओवर के बारे में बात कर सकते हैं, लेकिन अगर वो कैच पकड़ लेते तो दिल्ली के लिए मैच जीतना आसान नहीं होता। इस हार के बाद सीएसके अंकतालिका में छठे स्थान पर है और उन्हें टॉप चार में जगह बनानी है तो उन्हें अगले पांचों मुकाबले जीतने होंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस