नई दिल्ली, जेएनएन। पीयूष चावला उन भाग्यशाली खिलाड़ियों में शामिल हैं जो 2007 और 2011 विश्व विजेता भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा थे, लेकिन उन्होंने सिर्फ 35 इंटनेशनल मैच ही खेले। पीयूष उस युवा टीम के सदस्य थे जिन्होंने MS Dhoni की कप्तानी में पहला टी20 वर्ल्ड कप जीता था। हालांकि वो टीम का हिस्सा जरूर थे, लेकिन किसी भी मैच में उन्हें अंतिम 11 में जगह नहीं मिल पाई थी तो वहीं 2011 वनडे वर्ल्ड कप के शुरुआती मैच में उन्हें आर अश्विन की जगह तरजीह देते हुए अंतिम 11 में शामिल किया गया था। 

31 साल के पीयूष चावला पिछले 8 साल से इंटरनेशनल क्रिकेट से दूर हैं, लेकिन वो आइपीएल के बेहतरीन स्पिनरों में से एक हैं। आइपीएल 2020 सीजन के लिए हुई नीलामी में उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने 6.75 करोड़ रुपये देखकर खरीदा था। चावला धौनी की कप्तानी में पहली बार आइपीएल में खेलने के लिए तैयार हैं। हालांकि इससे पहले आइपीएल के ज्यादातर मुकाबले उन्होंने गौतम गंभीर की कप्तानी में खेली ही जिन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स की कप्तानी 2011 से लेकर 2017 तक की थी। 

आकाश चोपड़ा के साथ यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए पीयूष चावला ने एम एस धौनी और गौतम गंभीर में से अपने फेवरेट कप्तान का चयन किया। उन्होंने किसी एक का चयन करने से पहले दोनों ही कप्तानों की प्रशंसा की। फिर उन्होंने कहा कि मैं कहूंगा की माही भाई ज्यादा बेहतर कप्तान हैं। आप इन दोनों कप्तानों की तुलना नहीं कर सकते। ईमानदारी से कहूं तो खेल को देखने का सबका अलग-अलग नजरिया होता है। कभी-कभी गौती भाई करते थे कि तुम इस तरह से काम कर सकते हो, ऐसा हो सकता है तो वहीं धौनी भी आप पर जिम्मेदारी दे देते हैं। 

पीयूष चावला ने कहा कि आप दोनों के बीच सचमुच तुलना नहीं कर सकते। इन दोनों में कुछ बातें काफी सामान्य थीं। वो दोनों ही एक गेंदबाज के तौर पर आपको खुली छूट देते हैं, लेकिन अगर ये काम नहीं करता है तो वो प्लान बी की तरफ शिफ्ट हो जाएंगे। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस