नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। यूएई और ओमान में 17 अक्टूबर से खेले जाने वाले टी20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए टीम इंडिया का मेंटर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को बनाया गया है। बीसीसीआइ ने इस इवेंट के लिए टीम इंडिया की घोषणा करते समय ही इस बात का एलान किया। बीसीसीआइ सचिन जय शाह ने भी बताया था कि, टीम इंडिया के लिए मेंटर की भूमिका निभाने के लिए धोनी भी तैयार हो गए हैं। धौनी के मेंटर बनाए जाने से क्रिकेट फैंस व ज्यादातर पूर्व क्रिकेटर्स भी काफी खुश हैं, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने इसे लेकर सवाल उठा दिए। 

अजय जडेजा ने सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क पर बात करते हुए कहा कि, वह इस कदम के पीछे के मकसद को समझ नहीं पाए। जडेजा ने कहा कि, यह मेरे लिए समझना असंभव है और मैं दो दिनों से सोच रहा हूं कि क्या सोच हो सकती है। मैं एमएस धोनी की बात नहीं कर रहा हूं, उनके पास जो समझ है या वह कितने उपयोगी हो सकते हैं, मैं उस ओर नहीं जा रहा हूं। यह ऐसा था जैसे आपने रवींद्र जडेजा को बल्लेबाजी के लिए अजिंक्य रहाणे से आगे भेज दिया, व्यक्ति सोचता है कि ऐसा क्यों किया गया है। 

जडेजा ने आगे कहा कि, 'मैं इससे हैरान हूं। मेरे से बड़ा धौनी का कोई फैन नहीं है। मेरा मानना है कि, धोनी पहले ऐसे कप्तान थे जिन्होंने टीम से जाने से पहले अगला कप्तान बना दिया।' जडेजा ने इस तथ्य पर भी जोर दिया कि भारत ने विराट कोहली और रवि शास्त्री के नेतृत्व में अच्छा प्रदर्शन किया है और इसलिए आगामी टी20 विश्व कप के लिए एक मेंटर की आवश्यकता नहीं थी। उन्होंने कहा कि, 'टीम के पास एक कोच है जिसने इस टीम को वर्ल्ड नंबर वन बनाया है। अब रातों-रात ऐसा क्या हो गया कि, टीम को एक मेंटर की आवश्यकता पड़ गई। यह सोच मुझे थोड़ा हैरान कर रही है।'

जडेजा ने कहा कि, मैं अब जिस भारतीय क्रिकेट को देख रहा हूं वो अलग तरीके से काम कर रहा है। धोनी इसे अलग तरीके से चलाते थे और वो स्पिनर्स के साथ खेलते थे। वो कभी चार तेज गेंदबाजों के साथ नहीं उतरते थे। इंग्लैंड में भारतीय टीम इसके उलट चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर रही थी। एक व्यक्ति एक तरह से सोचता है तो दूसरा दूसरे तरीके से सोचता है और शायद यह दोनों को मिलाने का प्रयास है। 

Edited By: Sanjay Savern