साउथैंप्टन, प्रेट्र। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के क्रिकेटर सैम बिलिंग्स का कहना है कि इंग्लिश टीम वनडे में काफी मजबूत हैं, लेकिन आने वाले समय में भारत को दो-दो वर्ल्ड कप खेले जाने हैं। इन वर्ल्ड कप में उन्हें आइपीएल में खेलने के अनुभव का फायदा मिलेगा। आयरलैंड के खिलाफ इंग्लैंड की टीम में जो डेनली की जगह सैम को टीम में शामिल किया गया था और उन्होंने पहले ही वनडे में 67 रन की पारी खेली थी। इस पारी के दम पर उनकी टीम को पहले वनडे मैच में 6 विकेट से जीत मिली थी। 

आपको बता दें कि भारत 2021 में टी20 विश्व कप और 2023 में 50 ओवर के विश्व कप की मेजबानी करेगा। सैम बिलिंग्स का मानना है कि उनकी स्पिन को बखूबी खेलने की काबिलियत से वह अच्छी स्थिति में होंगे।इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नै सुपरकिंग्स और दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल चुके सैम बिलिंग्स ने ‘स्काईस्पोर्ट्स’ से कहा कि मुझे लगता है कि यह निश्चित रूप से ऐसी चीज है जिससे मैं अन्य खिलाड़ियों की तुलना में थोड़ा बेहतर हो सकता हूं। स्पिन के खिलाफ मेरे खेल में मुझे विभिन्न फ्रेंचाइजी के अनुभवों से फायदा मिला साखतौर पर आइपीएल में।

उन्होंने कहा कि मुझे चेन्नई और दिल्ली में घूमती पिचों पर सफलता मिली। मुझे इस पर काम करते रहना होगा। वनडे प्रारूप हो या फिर टेस्ट मैच, उपमहाद्वीप में मुझे लगता है कि मैं अच्छा कर सकता हूं। अगर मुझे मौका मिलता है तो मैं लंबे प्रारूप में अच्छा करना चाहूंगा। 29 साल के खिलाड़ी ने 16 वनडे और 26 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। लेकिन 2015 से डेब्यू करने के बाद वह इंग्लैंड की टीम में नियमित नहीं हो पाए हैं लेकिन जब आयरलैंड के खिलाफ अंतिम एकादश में उन्हें शामिल किया गया तो उन्होंने इसका पूरा फायदा उठाया। सैम की अच्छी पारी ने सबको प्रभावित किया और वो टीम का नियमित हिस्सा बनना चाहते हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस