विशाखापत्तनम। श्रीलंका पर टी-20 सीरीज में मिली जीत से उत्साहित भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कहा कि उनकी टीम टी-20 विश्व कप में खिताब की प्रबल दावेदार होगी, हालांकि कुछ शीर्ष बल्लेबाजों को क्रीज पर अधिक समय बिताने की जरूरत है।

भारत की बल्लेबाजी में गहराई होने के कारण सभी बल्लेबाजों को पिछले छह टी-20 मुकाबलों में अधिक रन बनाने का मौका नहीं मिला। धौनी और युवराज सिंह भी ऑस्ट्रेलिया व श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में क्रीज पर ज्यादा समय नहीं बिता सके।

श्रीलंका पर रविवार को 9 विकेट से जीत दर्ज करने के बाद कप्तान धौनी ने कहा- हर किसी को बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला है। मगर आप इस समस्या का सामना करते रहेंगे क्योंकि हमारी बल्लेबाजी में गहराई है। हमारी कोशिश उन खिलाडि़यों को बल्लेबाजी का मौका देने की है, जिन्होंने अब तक क्रीज पर ज्यादा समय न बिताया हो। छठें, सातवें और आठवें क्रम पर उतरने वालों को लंबे शॉट लगाने की जरूरत है जो हमारे लिए बहुत अहम रहेगा।

उन्होंने कहा कि उस समय यह मायने नहीं रखता कि आप कितने रन बना रहे हैं, लेकिन तीन चार गेंद में 10 - 15 रन बनाना भी काफी उपयोगी होगा। धौनी ने कहा कि आठ मार्च से शुरू हो रहे टी-20 विश्व कप में घरेलू हालात में खेलने का टीम को फायदा मिलेगा।

उन्होंने कहा- जब छोटे प्रारूप की बात हो तो हम हमेशा प्रबल दावेदारों में रहते हैं। टी-20 विश्व कप भारत में हो रहा है लिहाजा स्पिनरों की भूमिका अहम होगी, जिसका हमें फायदा मिलेगा। इसके अलावा हमने यहां आइपीएल के आठ में से सात सत्र खेले हैं जिसका अनुभव फायदेमंद होगा। उन्होंने कहा कि विरोधी टीम के खतरनाक बल्लेबाजों को जल्दी आउट करना अहम होगा।

धौनी ने कहा- छोटे प्रारूप में टीमों के भीतर ज्यादा फर्क नहीं रहता। आपको विरोधी टीम के बिग हिटर्स को जल्दी आउट करना होता है। नाकआउट मैच में आपको अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है क्योंकि इसके बाद यह लॉटरी क्रिकेट हो जाता है। लगातार अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि टीम में जसप्रीत बुमराह जैसे गेंदबाज का होना अच्छा है जो डैथ ओवरों में यॉर्कर फेंक सकता है। इससे टीम को अश्विन जैसे गेंदबाज को जल्दी गेंद सौंपने का विकल्प मिल जाता है। भारतीय कप्तान ने खुशी जताई कि सभी गेंदबाजों को टी-20 विश्व कप से पहले गेंदबाजी का मौका मिल गया है।

उन्होंने कहा- यह अच्छी बात है कि सभी को गेंदबाजी का मौका मिल गया है। पिछले कुछ मैचों में सभी ने रन दिए हैं जिसका मतलब है कि वे दबाव में थे। कुल मिलाकर गेंदबाजी अच्छी रही। गेंदबाजी की शुरुआत करते हुए चार विकेट लेने वाले अश्विन के बारे में उन्होंने कहा कि वह नई गेंद को बखूबी फ्लाइट कराके बल्लेबाज को आगे आकर बड़े शॉट खेलने के लिए मजबूर करता है। इस प्रारूप में यह जरूरी है। अश्विन के होने से आप तेज गेंदबाजों को बीच के ओवरों में इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern