नई दिल्ली, जेएनएन। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को तीसरे और चौथे मैच में जो जीत मिली वो अपने आप में बेमिसाल रहा। इन दोनों मैचों में ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम को शायद ही जीत मिले, लेकिन दोनों मैच सुपर ओवर में पहुंचा और फिर टीम इंडिया ने जीती हुई बाजी अपने नाम कर ली। ऐसा पहली बार हुआ जब टीम इंडिया को लगातार दो टी 20 मैचों में सुपर ओवर के जरिए जीत मिली। तीसरे मैच में भी ऐसा हुआ और फिर चौथे मैच में भी वही कहानी दोहराई गई।

चौथे मैच में जीत के बाद विराट कोहली ने कहा कि इस मैच के बाद मैंने कुछ नया सीखा और वो ये की खेल में किसी भी परिस्थिति के दौरान आपको शांत रहने की जरूरत है। यहां पर आपको स्थिति को देखकर विचार करने की जरूरत होती है और फिर जब मौका मिले तो अपनी रणनीति को सही तरीके से उतारने की जरूरत है। अब इन दो मैचों में जीत तरह की जीत मिली है फैंस इसके बारे में कुछ भी नहीं पूछ सकते हैं। हमने इससे पहले सुपर ओवर नहीं खेला था और अब बैक टू बैक दो मैचों में खेलने का मौका मिला। 

विराट कोहली ने बताया कि पहले ये तय किया गया था कि केएल राहुल और संजू सैमसन को बल्लेबाजी के लिए भेजा जाए क्योंकि ये दोनों ज्यादा अच्छे तरीके से गेंद को हिट कर सकते हैं, लेकिन बाद में राहुल के साथ मैं बल्लेबाजी के लिए उतरा क्योंकि मैं ज्यादा अनुभवी था और दवाब के इस वक्त को ज्यादा बेहतर तरीके से हैंडल कर सकता था। इसके बाद पहले दो गेंदों पर राहुल ने दस रन बनाकर मैच को जीत के करीब ला दिया और बाद में बचा हुआ काम मैंने पूरा कर दिया। 

उन्होंने कहा कि मैं सुपर ओवर का हिस्सा इससे पहले कभी नहीं रहा था, लेकिन इस बार जो कुछ भी हुआ उससे मैं काफी खुश हूं। मुझे ऐसा लगता है कि संजू बेहद निडर खिलाड़ी हैं और जीत दिलाने की बारी इस बार उनकी थी। मुझे लगता है कि वाशिंगटन ने काफी मैच खेले हैं और सैनी ने बल्लेबाजों को परेशान किया। टीम की बल्लेबाजी के बारे में विराट ने कहा कि पहले छह ओवर में हम पिच को सही तरीके से समझने में कामयाब नहीं हो पाए और जल्दी-जल्दी विकेट गंवा दिया। जिस तरह का खेल टीम ने दिखाया उसके बाद मुझे अपनी टीम पर गर्व है। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस