नई दिल्ली, जेएनएन। जोहानिसबर्ग में खेेले गए चौथे वनडे में 5 विकेट से मिली हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि नो बॉल करने और विपक्षी बल्लेबाज को जीवनदान देने की वजह से भारत को शनिवार को चौथे वनडे में दक्षिण अफ्रीका के हाथों हार झेलनी पड़ी। दक्षिण अफ्रीका ने वर्षा प्रभावित चौथे वनडे में भारत को डकवर्थ-लुईस पद्धति से 5 विकेट से हराकर सीरीज में उम्मीदों को बनाए रखा।

जब एबी डिविलियर्स आउट हुए तो उस वक्त भारत मैच में था, लेकिन इसके बाद डेविड मिलर और हेनरिक क्लासेन मैच को उसकी पकड़ से दूर ले गए। मिलर को एक ओवर में तीन-तीन जीवनदान मिले। युजवेंद्र चहल की गेंद पर श्रेयस अय्यर ने मिलर का कैच छोड़ा। मिलर इसी ओवर में बोल्ड हुए, लेकिन चहल की यह गेंद नो बॉल निकली। इसके बाद फ्री हिट वाली गेंद पर भी मिलर का कैच तो पकड़ा गया लेकिन टीम इंडिया को उनका विकेट न मिल सका। विराट ने कहा, 'यदि हम इस तरह फील्ड में मौके छोड़ेंगे तो टीम को नुकसान ही होगा। इस तरह की नो बॉल टीम को बहुत भारी पड़ती है और हमें शीघ्र ही इस समस्या से निजात पानी होगी।

उन्होंने कहा, बारिश के बाद यह एक तरह से टी20 मैच हो गया था। दक्षिण अफ्रीकी टीम ने जबरदस्त खेल दिखाया और वह जीत की हकदार थी। द. अफ्रीका की पारी के दौरान गेंद गीली हो रही थी और इसके चलते स्पिनरों को मुश्किल हो रही थी।

भारत ने शिखर धवन के शतक (109) की मदद से 7 विकेट पर 289 रन बनाए। इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने जब 7.2 ओवरों में 1 विकेट पर 43 रन बनाए थे तभी बिजली चमकना शुरू हुई और फिर बारिश हुई जिसके चलते खेल काफी देर रोकना पड़ा। इसके बाद द. अफ्रीका को 28 ओवरों में 202 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला जिसे द. अफ्रीका ने 15 गेंद शेष रहते 5 विेकेट खोकर हासिल किया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Pradeep Sehgal