कोलंबो, एजेंसी। त्रिकोणीय सीरीज के लिए हार्दिक पांड्या की जगह भारतीय टीम में चुने गए विजय शंकर अपने करियर के दूसरे मैच में ही मैन ऑफ द मैच चुने गए। उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ दो महत्वपूर्ण विकेट झटके।

पांड्या से नहीं करना चाहता तुलना

विजय शंकर ने कहा कि हार्दिक के साथ अपनी तुलना करके खुद को दबाव में नहीं लाना चाहते। मैं अपने प्रदर्शन पर ध्यान देना चाहता हूं जिससे की टीम की जीत में सहयोग कर सकूं। शंकर ने कहा कि मेरे लिए सबसे अहम ये है कि मैं दिन पर दिन अपने प्रदर्शन में सुधार करूं। पांड्या से तुलना का दबाव मैं अपने ऊपर नहीं लेना चाहता क्योंकि वह भी ऑलराउंडर ही हैं। मुझे लगता है कि कोई भी क्रिकेटर अपनी तुलना किसी और के साथ नहीं चाहता। हम सभी के लिए सबसे जरूरी ये है कि हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें।

रैना और वॉशिंगटन सुंदर से नहीं नाराजगी

शंकर को अपने पहले अंतरराष्ट्रीय विकेट के लिए काफी इंतजार करना पड़ा क्योंकि उनकी गेंद पर वाशिंगटन सुंदर और सुरेश रैना ने कैच छोड़ दिया था। क्या रैना और सुंदर द्वारा कैच छोड़ने का उन पर कोई प्रभाव पड़ा, इस पर शंकर ने कहा कि कैच छूटना खेल का हिस्सा है और इससे मुझे कोई बहुत फर्क भी नहीं पड़ा। हालांकि अगर वह कैच हो जाता तो निश्चित तौर पर मुझे पहला विकेट जल्दी ही मिल जाता और ये मेरे लिए काफी खुशी का मौका होता। वैसे सफेद गेंद के साथ दूधिया रोशनी में फील्डिंग करना आसान नहीं होता।

भारत का अगला मैच 12 मार्च को

इस सीरीज़ के पहले दो मैचों में टीम इंडिया को एक में हार और एक में जीत मिली है। ट्राई सीरीज़़ के पहले मैच में श्रीलंका ने भारतीय टीम को पांच विकेट से मात दी थी। त्रिकोणीय सीरी़ज़ के दूसरे मैच में भारत ने बांग्लादेश को हराकर सीरीज़ में अपनी जीत का खाता खोल लिया था। इस सीरीज़ का तीसरा मुकाबला शनिवार (आज) श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेला जाएगा। भारतीय टीम का अगला मैच श्रीलंका के साथ 12 मार्च को होगा।  

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Pradeep Sehgal