नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। फिरकी के जाल में फंसाकर कीवी टीम को पहली पारी में बड़े स्कोर से रोकने वाले गेंदबाज अक्षर पटेल तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद काफी खुश नजर आए। उनका कहना है कि टी-20 फार्मेंट से सीधे टेस्ट में आकर पांच विकेट हासिल करना बड़ा चुनौतीपूर्ण था, लेकिन सात पारियों में पांच बार पांच विकेट सपना सच होने जैसा रहा। दूसरे दिन मजबूत दिख रही न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच विकेट लेना मेरे लिए यादगार पल हो गया।

उन्होंने बताया कि टीम की रणनीति के तहत गेंदबाजी करते हुए लाइन व लेंथ पर फोकस बनाए रखा। क्रीज का उपयोग करने से स्पिन गेंदबाजों को मदद मिल रही थी। पीच धीरे-धीरे धीमी होती जा रही है। इसके कारण गेंद बल्ले पर रुककर आ रही थी। भोजनकाल के बाद टीम ने दोनों ओर से स्पिन अटैक करते हुए कीवी टीम को बैकफुट पर धकेला। अक्षर ने बताया कि दूसरे दिन ही पिच धीमी हो गई थी। रणनीति बनाकर गेंद को तेज करने की योजना सफल रही। टेस्ट में पांच विकेट लेने का मौका कभी-कभी आता है। इस पल से खुश हूं।

आपको बता दें कि कानपुर टेस्ट मैच की पहली पारी में भारतीय स्पिनर अक्षर पटेल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट लिए थे। उन्होंने पहली पारी में 34 ओवर में 6 ओवर मेडन फेंके और 62 रन देते हुए 5 विकेट लिए। उन्होंने अपनी गेंद पर टाम लाथम, रोस टेलर, हेनरी निकोलस, टाम ब्लंडेल और टिम साउथी को आउट किया। इस मैच में अक्षर के अलावा आर अश्विन ने तीन जबकि रवींद्र जडेजा को एक सफलता मिली। वहीं तेज गेंदबाज उमेश यादव को एक सफलता मिली यानी पहली पारी में 10 में से 9 विकेट स्पिनरों के खाते में रही। अक्षर पटेल का ये न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच है और उन्होंने इस टीम के खिलाफ पहली ही पारी में 5 विकेट लिए और शानदार शुरुआत की। भारतीय गेंदबाजों की बेहतरीन गेंदबाजी की वजह से कीवी टीम पहली पारी में 196 रन पर आल आउट हुई। 

Edited By: Sanjay Savern