नई दिल्ली, एएनआइ। लंबे समय तक भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता रहे एमएसके प्रसाद का कार्यकाल अब समाप्त हो गया है। सोमवार 23 दिसंबर को दिल्ली में एमएसके प्रसाद ने चयनकर्ताओं की समिति की अध्यक्षता करते हुए आखिरी बार भारतीय टीम का चुनाव किया। श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए उनकी अध्यक्षता वाली चयन समित ने भारतीय टीम का ऐलान किया। जाते-जाते एमएसके प्रसाद ने भारतीय क्रिकेट की जमकर तारीफ की।

पूर्व क्रिकेटर और आखिरी असाइनमेंट पूरा कर चुके एमएसके प्रसाद ने टीम का ऐलान करने के बाद मीडिया के सवाल पर कहा, भारतीय क्रिकेट को अगले 6-7 साल तक चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि हमारे पास सभी प्रारूपों(टेस्ट, वनडे और टी20 इंटरनेशनल) में पर्याप्त बेंच स्ट्रेंथ है।" इससे पहले एमएसके प्रसाद ने ये भी बताया कि चयन समिति ने रोहित शर्मा और मोहम्मद शमी की टी20 सीरीज के लिए आराम दिया है, जबकि ओपनर शिखर धवन और पेसर जसप्रीत बुमराह को टीम में शामिल किया है।

बतौर चीफ सलेक्टर एमएसके प्रसाद का कार्यकाल एक दो विवादों को छोड़कर शानदार रहा है। जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, रिषभ पंत जैसे तमाम खिलाड़ियों को हर एक फॉर्मेट में मौका देकर उन्होंने अपनी सोच को साबित कर दिखाया है कि वे बड़े विजन के साथ इस पद पर आसीन हुए थे। हालांकि, वर्ल्ड कप 2019 के दौरान अंबाती रायुडू की जगह विजय शंकर को तरजीह देने और फिर विजय शंकर की जगह मयंक अग्रवाल को तरजीह देने पर उनको विवादों से भी गुजरना पड़ा। इसके बाद अंबाती रायुूडू ने गुस्से में आकर संन्यास का ऐलान कर दिया था। हालांकि, बाद में उन्होंने ये फैसला वापस ले लिया था। 

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस