नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग 2022 (IPL 2022) का मेगा आक्शन 12-13 फरवरी को होना है। इस दौरान सभी आइपीएल फ्रेचाइजी मजबूत टीम बनाना चहेगी, जो भविष्य में उन्हें शानदार परिणाम दे सकें। जानकारी के अनुसार नीलामी के लिए 1214 खिलाड़ियों ने पंजीकरण कराया है। इसमें 896 भारतीय और 318 विदेशी खिलाड़ी हैं।कुल 49 खिलाड़ियों ने 2 करोड़ रुपये अपना बेस प्राइस रखा है। इनमें से 17 खिलाड़ी भारतीय हैं, जबकि बाकी विदेशी हैं। इनमें कुछ खिलाड़ी अनसोल्ड भी रहेंगे। आइए बात करते हैं ऐसे तीन भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जो अनसोल्ड रह सकते हैं।

उमेश यादव

उमेश यादव वनडे और टी-20 में टीम इंडिया के लिए खेलते नहीं दिखते हैं। उन्होंने आइपीएल के पिछले दो संस्करणों में भी ज्यादा मौका नहीं मिला है। उमेश यादव ने 2019 सीजन में आरसीबी के लिए खेलते हुए पावरप्ले के साथ-साथ डेथ ओवरों में भी काफी रन दिए। 2020 में भी चीजें बहुत अच्छी नहीं रहीं और 2021 के सत्र से पहले उमेश यादव को दिल्ली कैपिटल्स ने खरीद लिया। हालांकि, उन्होंने सीजन के दौरान एक भी मैच नहीं खेला। आवेश खान और प्रसिद्ध कृष्णा समेत अन्य युवा भारतीय गेंदबाजों को देखते हुए कहा जा सकता है कि इसके बहुत कम असार हैं कि उमेश यादव के लिए मेगा आक्शन में कोई टीम बोली लगाएगी।

दिनेश कार्तिक

दिनेश कार्तिक ने आखिरी बार भारत के लिए आइसीसी 2019 विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। तब से टीम प्रबंधन ने उनकी अनदेखी की है। कार्तिक पिछले साल तक कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले थे। हालांकि, फ्रेंचाइजी ने उन्हें टूर्नामेंट के अगले संस्करण के लिए रिटेन नहीं करने का फैसला किया। पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने आइपीएल में ऐसा प्रदर्शन नहीं किया जिसको देखते हुए कि कोई फ्रेंचाइजी उनमें दिलचस्पी दिखाए। उन्होंने पिछले साल 17 मैचों में 22.30 की औसत से 223 रन बनाए थे। अगर वह आक्शन में अनसोल्ड रह जाते हैं, तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

सुरेश रैना

इस बात से कोई इन्कार नहीं कर सकता है कि सुरेश रैना ने आइपीएल में सीएसके की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वह आइपीएल के इतिहास में सीएसके के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। हालांकि, टूर्नामेंट के अगले सत्र के लिए उन्हें रिटेन नहीं करने के बाद फ्रेचाइज़ी ने सभी को चौंका दिया। शायद यह निर्णय उनके फार्म में गिरावट के कारण लिया गया। उन्होंने टूर्नामेंट के 2021 सत्र में काफी संघर्ष किया। उन्होंने 12 मैचों में 17.77 की खराब औसत से 160 रन बनाए। सुरेश रैना ने इससे पहले आइपीएल में कुछ बेहतरीन पारियां खेली हैं। हालांकि, उनके मौजूदा फार्म को देखते हुए उनके आक्शन में अनसोल्ड रहने की संभावना है।

Edited By: Tanisk