नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय टेस्ट टीम के मध्यक्रम के दो अहम बल्लेाज चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे अपनी चमक खो बैठे हैं और इन दोनों की खराब बल्लेबाजी का खमियाजा टीम इंडिया को साउथ अफ्रीका में भुगतना पड़ा। इन दोनों खिलाड़ियों की खराब बल्लेबाजी को लेकर पहले से ही इनकी आलोचना हो रही है, लेकिन भारतीय टीम मैनेजमेंट ने इन पर विश्वास दिखाते हुए इन्हें लगातार मौके दे रही है। हालांकि लगातार मिल रहे मौके के बाद भी इन्होंने कैसा खेल दिखाया है ये उनके आंकड़े खुद साबित करते हैं। अब इन दोनों की खराब फार्म और फ्लाप बल्लेबाजी को लेकर टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने अपनी राय दी। 

गौतम गंभीर ने कहा कि अब समय आ गया है कि रहाणे और पुजारा की जगह भारतीय टेस्ट टीम में नए खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अब हनुमा विहारी को मौका देने का समय आ गया है और उन्हें दो-तीन साल तक टीम में खेलने का मौका मिलना चाहिए। इसके अलावा उन्हें उसी तरह से सपोर्ट करने की जरूरत है जैसे अजिंक्य रहाणे को किया गया। वहीं तीसरे नंबर पर पुजारा की वजह अब शुभमन गिल को आजमाया जाना चाहिए। वो टीम के लिए ओपनिंग भी कर सकते हैं ऐसे में वो पुजारा की जगह भी बल्लेबाजी कर सकते हैं। 

साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में अजिंक्य रहाणे ने 6 पारियों में 22.66 की औसत से 136 रन बनाए थे। वहीं पुजारा की बात करें तो उन्होंने इन मैचों की 6 पारियों में 20.66 की औसत से 124 रन बनाए थे। इनके इस खराब प्रदर्शन के बाद अब दोनों बल्लेबाजों के लिए टीम में जगह बनाए रखना मुश्किल ही लग रहा है। अब भारत को अगली टेस्ट सीरीज अपने घरेलू मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ खेलना है ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि क्या टीम मैनेजमेंट एक बार फिर से इन दोनों खिलाड़ियों पर भरोसा दिखाती है या फिर अन्य खिलाड़ियों को मौका मिलता है। 

Edited By: Sanjay Savern