नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर लगभग अपने अंतिम पड़ाव पर है। वो इन दिनों भारत के लिए सिर्फ वनडे फार्मेट में खेल रहे हैं। टेस्ट टीम से वो काफी वक्त से दूर थे और अब टी20 क्रिकेट टीम में भी उन्हें लगातार मौका नहीं दिया जा रहा है। वैसे वनडे क्रिकेट के लिए उनकी उपयोगिता बनी हुई है और हाल ही में उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय वनडे टीम की कप्तानी की थी और इसमें भारत को 3-0 से जीत मिली थी। 

शिखर धवन का प्रदर्शन और उनकी फिटनेस अभी भी बेहतरीन है और वेस्टइंडीज में ये देखने को भी मिला। उन्होंने बतौर कप्तान साथ ही बतौर बल्लेबाज काफी अच्छी पारियां खेली। अब धवन जिम्बाब्वे के खिलाफ भी तीन मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी करेंगे। वैसे धवन भारत में आयोजित होने वाले वनडे वर्ल्ड कप 2023 में टीम का हिस्सा होंगे या नहीं ये कहना जल्दबाजी होगी, लेकिन जिस तरह से उन्हें वनडे टीम में जगह दी जा रही है और जिम्मेदारियां मिल रही हैं उससे तो यही लगता है कि शायद उन्हें खेलने का मौका मिले।

शिखर धवन ने एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए अपने करियर के बारे में कहा कि जब तक मैं भारत के लिए खेल रहा हूं, मैं टीम के लिए असेट बनना चाहता हूं, न कि एक दायित्व। मैं एक शांत, परिपक्व व्यक्ति हूं और मेरा प्रदर्शन मेरे अनुभव का प्रतिबिंब है। मेरे बेसिक्स काफी मजबूत हैं और मैंने अपनी तकनीक में सुधार के लिए काफी मेहनत की है। एक प्रारूप को समझना भी बहुत महत्वपूर्ण है। मैं वनडे क्रिकेट की गतिशीलता को समझता हूं, और इससे मुझे बहुत मदद मिली है। उन्होंने कहा कि मैं दो या तीन महीनों के अंतराल पर एक फार्मेट में खेलता हूं और इससे मुझे तरोताजा रहने में मदद मिलती है। इस गैप की वजह से मुझे अपने खेल पर काम करने साथ ही अपनी फिटनेस पर भी काम करने का समय मिल जाता है। 

Edited By: Sanjay Savern