ढाका, प्रेट्र। बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मुहम्मद अशरफुल का मानना है कि शाकिब अल हसन पर लगा प्रतिबंध सिस्टम के लिए चौंकाने वाली घटना है। बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) में 2013 में स्पॉट फिक्सिंग मामले में पांच साल का प्रतिबंध झेलने वाले अशरफुल अब प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अब अगले 12 महीने शाकिब के लिए काफी मुश्किल होने वाले हैं। अशरफुल ने कहा कि हमारे मामले अलग हैं। उन्होंने सट्टेबाजी की जानकारी प्रशासन को नहीं दी जबकि मैं पूरी तरह से स्पॉट फिक्सिंग में शामिल था लेकिन यह सिस्टम के लिए एक चौंकाने वाली घटना है। हम क्रिकेट से प्यार करते हैं। शाकिब ने जो कुछ भी किया है, उसको शब्दों में बयां करना मुश्किल है। मुझे लगता है कि यहां उनके बारे में कोई ज्यादा खबर नहीं है।

35 वर्षीय अशरफुल ने आगे कहा कि वह यह देखकर दुखी हैं कि उनके बाद के खिलाड़ी भी इसी रास्ते पर चल पड़े हैं। मेरा मानना था कि मेरे बाद कोई भी बांग्लादेशी क्रिकेटर इस तरह की परेशानियों में नहीं पड़ेगा। हम दोनों के मामले अलग हैं, लेकिन सजा यह है कि हमें क्रिकेट से दूर रहना है।

आपको बता दें कि शाकिब अल हसन ने सटोरिया द्वारा संपर्क किए जाने की कोशिश की रिपोर्ट नहीं की थी जिसके बाद आइसीसी ने इसे नियमों का उल्लंघन माना और उन पर दो साल का बैन लगाया गया। इस बैन की वजह से शाकिब क्रिकेट से दूर हो गए और भारत दौरे पर नहीं आ पाए। यही नहीं इस बैन की वजह से उनका अगले टी20 विश्व कप में खेलने पर भी संदेह पैदा हो गया है। शाकिब ने इस मामले में आइसीसी का पूरा साथ दिया जिसकी वजह से उनका एक वर्ष का बैन सस्पेंड कर दिया गया और एक साल का बैन जारी रहेगा। भारत दौरे के लिए शाकिब की जगह टी 20 टीम का कप्तान महमूदुल्लाह को बनाया गया। वहीं शाकिब पर बैन लगने के बाद क्रिकेट फैंस ने बांग्लादेश में जमकर विरोध-प्रदर्शन किया। 

 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस