नई दिल्ली, जेएनएन। MS Dhoni को कैप्टन कूल के नाम से भी जाना जाता है। धौनी जब टीम इंडिया के कप्तान थे तब मैदान पर चाहे जैसी भी परिस्थिति होती थी वो कभी भी अपना संयम नहीं खोते थे। जीत हो या हार हर हाल में धौनी एक जैसे ही रहते थे, लेकिन कुछेक मौकों पर धौनी को भी गुस्सा करते देखा गया और वो लाइव मैच के दौरान अपने साथी खिलाड़ियों को डांटते हुए भी देखे गए। अब धौनी के गुस्से का शिकार हुए टीम इंडिया के चाइनामैन गेंदबाज ने एक वाकया याद करते हुए बताया कि उनके डांटने की वजह से वो बुरी तरह से सहम गए थे। 

कुलदीप ने जतीन सप्रू से बात करते हुए इस बात का खुलासा किया कि आखिर क्यों धौनी ने उनपर गुस्सा किया था। कुलदीप ने कहा कि वैसे तो माही भाई को गुस्सा काफी कम आता है पर एक बार जब हम इंदौर में श्रीलंका के खिलाफ खेल रहे थे तब उन्हें गुस्सा आया था। रोहित भाई ने उस मैच में शतकीय पारी खेली थी। इस मैच में हुआ ये था कि कुसल परेरा ने मेरी गेंद पर कवर के उपर से चौका जड़ दिया। इसके बाद धौनी ने विकेट के पीछे से चिल्लाते हुए मुझे कवर हटाने को कहा साथ ही फील्डिंग में कुछ और बदलाव के बारे में बताया, लेकिन मैं सुन नहीं पाया। इसके ठीक बाद परेरा ने फिर से मेरी गेंद पर रिवर्स स्वीप पर चौका मार दिया। 

दूसरा चौका लगने के बाद धौनी मेरे पास आए और वो काफी गुस्से में थे। उन्होंने कहा कि मैं पागल हूं 300 वनडे खेला हूं और समझा रहा हूं यहां पर। उस वक्त धौनी का गुस्सा देखकर मैं काफी डर गया था। मैच खत्म होने के बाद मैं जाने के दौरान बस में माही भाई के बगल में बैठा और उनसे पूछा कि आपको गुस्सा भी आता है। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मुझे 20 साल पहले गुस्सा आता था जब मैं रणजी ट्रॉफी में खेलता था। टीम इंडिया के लिए खेलते हुए मुझे 2 या 3 बार ही गुस्सा आया है। हालांकि मुझे अब ये अनुभव हो गया है कि मैं गुस्सा नहीं करता बल्कि डांटता हूं। 

कुलदीप यादव ने  बताया कि वो धौनी और चहल के काफी करीब हैं। माही भाई ने वनडे विश्व कप के दौरान मेरी खूब खिंचाई की। वो हर मैच और प्रैक्टिस सेशन में मेरी टांग खींचते थे। विराट कोहली हमेशा बस में आगे बैठते थ, लेकिन वो 20-25 दिन हमारे साथ पीछे बैठे। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस