नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के महान ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने भारत के लिए टेस्ट डेब्यू 6 मार्च 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में किया था। भारत के लिए टेस्ट में डेब्यू करने का उनका 50वां साल पूरा हो गया और इस खास मौके पर टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने उन्हें धन्यवाद कहा। सचिन ने कहा कि, आपने कई युवा क्रिकेटरों को प्रकाश दिखाया और आपको देखकर युवा बल्लेबाजों ने काफी कुछ सीखा। वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने वाले गावस्कर ने कई रिकॉर्ड्स तो़ड़े और अपने खेल के दम पर खुद को दुनिया के फाइनेस्ट बैट्समैन के तौर पर स्थापित किया। 

50 साल पहले आज ही के दिन सुनील गावस्कर ने अपनी धाकड़ बल्लेबाजी के जरिए पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खींचा था। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट सीरीज में कुल 774 रन बनाए थे और भारत ने उस टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज की थी और गावस्कर हीरो बन गए थे। इसके बाद भारत को इंग्लैंड में जीत मिली और अचानक ही गावस्कर के आने से भारतीय क्रिेकट में जबरदस्त बदलाव आ गया। सचिन ने ये बातें अपनी ट्वीट में लिखी। 

सचिन ने लिखा कि, मैं युवा था और गावस्कर से प्रेरित होकर मैंने हमेशा कोशिश की कि उनकी तरह बनूं और ये कभी नहीं बदला। वो हमेशा मेरे हीरो रहेंगे। इसके साथ ही सचिन ने उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट में 50 साल पूरे करने की बधाई भी दी। यही नहीं उन्होंने 1971 की पूरी क्रिकेट टीम को बधाई दी और लिखा कि. आप सबने हमें गौरवान्वित किया है और राह दिखाई है। 

आपको बता दें कि टीम इंडिया ने साल 1970-71 में वेस्टइंडीज का दौरा किया था और वहां पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेली गई थी। ये सीरीज बेहद यादगार बनी क्योंकि भारत ने पहली बार वेस्टइंडीज को उसकी धरती पर टेस्ट सीरीज में हराया था और टीम के कप्तान अजित वाडेकर थे। भारत ने ये टेस्ट सीरीज 1-0 से जीता था और सुनील गावस्कर ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाए थे साथ ही उन्होंने चार शतक लगाए थे जिसमें एक दोहरा शतक भी शामिल था। सुनील गावस्कर ने अपने क्रिकेट करियर में 125 टेस्ट मैच खेले और 10,122 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने भारत के लिए खेले 108 वनडे मैचों में 3,092 रन बनाए थे और उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 103 रन था। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप