नई दिल्ली, जेएनएन। S Sreesanth on MS Dhoni Team CSK: भारतीय टीम के तेज गेंदबाज शांताकुमार श्रीसंत को सुप्रीम कोर्ट के बाद बीसीसीआइ से भी मैच फिक्सिंग के मामले में राहत मिल गई है। श्रीसंत के आजीवन बैन को घटाकर सात साल कर दिया है। इसके बाद वे टीम इंडिया में वापसी की राह देख रहे हैं। हालांकि, अभी बैन अगले साल तक लागू रहेगा। इस बीच श्रीसंत ने एक बड़ा बयान देकर इस बात का खुलासा किया है कि वे क्यों धौनी की टीम सीएसके से नफरत करते हैं।

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने बताया है कि वे क्यों तीन बार की इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) विजेता चैन्नई सुपर किंग्स से नफरत करते हैं। विवादित आइपीएल करियर के लिए जाने-जाने वाले श्रीसंत को थप्पड कांड के लिए भी जाना जाता है। वहीं, राजस्थान रॉयल्स के पूर्व कोच पैडी अप्टन के साथ भी कथित लड़ाई को लेकर वे सुर्खियों में रहे हैं, जबकि आइपीएल के एक मैच में स्पॉट फिक्सिंग के कारण उन पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे थे और क्रिकेट से हमेशा के लिए बैन कर दिया गया था।

पैडी अप्टन की आत्मकथा ने खड़ा किया विवाद

अपनी आत्मकथा में कोच पैडी अप्टन ने लिखा है कि श्रीसंत ने उन्हें गाली दी थीं। इसलिए उन्हें सीएसके के खिलाफ मैच नहीं खेलने दिया गया, लेकिन अब श्रीसंत ने एक अंग्रेजी वेबसाइट से बात करते हुए कहा है कि उन्होंने सीएसके के खिलाफ मैच खेलने की जिद की थी, क्योंकि धौनी की कप्तानी वाली टीम के खिलाफ उनका रिकॉर्ड अच्छा था। साथ ही साथ वे पीले रंग से नफरत करते थे।

श्रीसंत ने कहा है, "मिस्टर अप्टन, आप अपने दिल पर हाथ रखकर और बच्चे के सिर पर हाथ रखकर कहिए कि मैंने कभी आपको टीम इंडिया या फिर आइपीएल टीम के दौरान गाली दी हो? मैं लीजेंड राहुल द्रविड़ से पूछना चाहता हूं, जिनका में बहुत सम्मान करता हूं और प्यार करता हूं, मैंने कब उनसे लड़ाई की? जो अप्टन ने अपनी किताब में लिखा है।”

पीले रंग से है नफरत- श्रीसंत

श्रीसंत ने आगे कहा, “मैंने अप्टन से कई बार विनती की थी कि मुझे उस मैच को खेलने दिया जाए, क्योंकि मेरा रिकॉर्ड सीएसके के खिलाफ अच्छा था और मैं उन्हें हराना चाहता था। ये बात उन्हें ऐसे लगी जैसे में फिक्सिंग के लिए वो मैच खेलना चाहता था। हर कोई जानता है कि मैं सीएसके से कितनी नफरता करता हूं। लोग कह सकते हैं कि मैं एमएस धौनी या फिर श्रीनिवासन सर की वजह से सीएसके से नफरत करता हूं, लेकिन ये सच नहीं है। मैं बस पीले रंग से नफरत करता हूं। ऑस्ट्रेलिया के साथ भी यही कारण है।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस