नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत से पिछले ही साल बैन हटा है। हालांकि, अगले कुछ महीने के बाद वे पूरी तरह से खेलने के लिए योग्य हो जाएंगे। ऐसे में वे भारतीय टीम के लिए फिर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना चाहते हैं, जो कि किसी भी तरह से आसान काम नहीं है। इसी बीच श्रीसंत ने एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने अपने आगे के क्रिकेट करियर के बारे में बात की है, जबकि बताया है कि कौन सा भारतीय खिलाड़ी क्रिकेट का असली भगवान है।

श्रीसंत ने क्रिकेट खेलते समय की अपना सबसे पसंदीदा उपहार सचिन तेंदुलकर के साथ खेलना बताया है। साल 2011 में आखिरी बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नज़र आए श्रीसंत ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के असली भगवान हैं। उनके साथ क्रिकेट वर्ल्ड कप खेलना किसी सपने से कम नहीं था। गौरतलब है कि श्रीसंत और सचिन तेंदुलकर ने साल 2011 के वर्ल्ड कप में भारत के लिए एकसाथ क्रिकेट खेली थी और उस विश्व कप को भारत ने जीता भी था।

सचिन हैं क्रिकेट के असली भगवान

स्पॉट फिक्सिंग के लिए बैन झेलने वाले श्रीसंत ने क्रिकेट वर्ल्ड से बात करते हुए कहा है, “क्रिकेट खेलते समय सबसे अच्छा उपहार निश्चित रूप से सचिन युग के दौरान पैदा होना था और उनके साथ खेलने का मौका मिलना अविश्वसनीय था। वह क्रिकेट के वास्तविक भगवान थे जो भारत को अधिक ऊंचाइयों पर ले गए, लाखों ने उनकी वजह से क्रिकेट खेलना शुरू किया और मैं अलग नहीं था। मैं केवल उनसे मिलना चाहता था और विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा बनन था।"

श्रीसंत पर क्रिकेट से आजीवन बैन लगा था, लेकिन बीसीसीआइ के लोकपाल ने उनकी सजा को सात साल कर दिया था, जो इसी साल समाप्त हो गई थी। श्रीसंत जब 30 साल के थे जो उन पर बैन लगा था, लेकिन अब वे 37 साल के हो गए हैं। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनका भारतीय टीम के लिए खेलना लगभग नामुमकिन सा लगता है।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस