सिडनी, प्रेट्र। भारतीय वनडे टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा का मानना है कि महेंद्र सिंह धौनी नंबर-चार पर बल्लेबाजी के लिए सबसे उपयुक्तहैं। हालांकि वह पहले वनडे में पांचवें नंबर पर उतरे थे। पिछली 13 पारियों में धौनी का औसत 25 का रहा है। वहीं, दूसरी तरफ अंबाती रायुडू ने नंबर-चार पर 45.72 के औसत से रन बनाए हैं लेकिन रोहित नंबर-चार पर धौनी को बल्लेबाजी करते देखना चाहते हैं।

रोहित ने मैच के बाद कहा कि व्यक्तिगत तौर पर मुझे हमेशा ऐसा लगता है कि उन्हें (धौनी) नंबर-चार पर बल्लेबाजी करनी चाहिए जो टीम के लिए सही होगा। रायुडू ने नंबर-चार पर शानदार काम किया है इसलिए यह पूरी तरह कप्तान और कोच पर निर्भर हैं कि इस बारे में वह क्या सोचते हैं। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने सीरीज शुरू होने से पहले कहा था कि हमारा मानना है कि रायुडू इस स्थान को पाने के लिए सही हैं क्योंकि उनके पास अनुभव है और उन्होंने घरेलू क्रिकेट और आइपीएल में कई बार अपनी टीम को जीत दिलाई है।

रोहित ने कहा कि जब वह (धौनी) बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे थे तो उस समय पहले ही तीन विकेट खो चुके थे। गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी कर रहे थे इसलिए हमें उन गेंदों का सम्मान करना था। हमने थोड़ा समय लिया, यहां तक कि मैंने भी। उस समय अगर हम एक और विकेट खो देते तो मैच वहीं पर समाप्त हो जाता, इसलिए हमारी कोशिश थी कि खेल को आगे लेकर जाएं इसलिए हमने गेंदें खाली निकालीं। उन्होंने कहा कि हमारे लिए यह अच्छा संकेत हैं कि धौनी ने यह दिखाया है टीम को जब भी उनकी जरुरत पड़ेगी तो वह ऊपर भी आ सकते हैं और बल्लेबाजी कर सकते हैं।

खुशकिस्मत रहे धौनी का विकेट मिला : रिचर्डसन

मैन ऑफ द मैच रहे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जेई रिचर्डसन ने कहा कि हम भाग्यशाली रहे जिससे हमें महेंद्र सिंह धौनी का विकेट मिला। जेसन बेहरनडर्फ की गेंद पर 33वें ओवर में धौनी को एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया गया था जबकि टीवी रिप्ले से लग रहा था कि गेंद ने लेग स्टंप के बाहर टिप्पा खाया था। धौनी डीआरएस नहीं ले सकते थे क्योंकि अंबाती रायुडू पहले ही इसे गंवा चुके थे। रिचर्डसन ने कहा कि एक दौर ऐसा था जब वे अच्छी साझेदारी निभा रहे थे और इससे मैच हमारे हाथ से निकलता जा रहा था लेकिन हम भाग्यशाली रहे जो धौनी को एलबीडब्ल्यू आउट करने में सफल रहे। इसके बाद हमने लगातार विकेट हासिल किए।

रिचर्डसन ने 26 रन देकर चार विकेट लिए जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। उन्होंने रोहित शर्मा के प्रदर्शन की तारीफ की जिनकी शतकीय पारी भारत के काम नहीं आई। उन्होंने कहा कि रोहित ने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की। उन्हें पूरा श्रेय जाता है और उसने परिस्थितियों से अच्छी तरह सामंजस्य बिठाया। उसने संयम के साथ बल्लेबाजी और खाली स्थानों का अच्छा उपयोग किया। रिचर्डसन ने कहा कि रोहित बेहद खतरनाक बल्लेबाज हैं और हम इसे जानते थे। इसलिए हमारी रणनीति उन्हें अधिक से अधिक स्ट्राइक से दूर रखना था।

Posted By: Ravindra Pratap Sing